वैश्विक महामारी को देखते हुए भगवान शिव के प्राण प्रतिष्ठा एवं महारुद्र यज्ञ का हुआ आयोजन

सोनो से चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट

देश भर में फेल रही महामारी कोविड 19 से रक्षा के लिए सोनो थाना क्षेत्र अंतर्गत काली पहाड़ी गांव स्थित एक सो फीट ऊंची पहाड़ी पर बसा आदी शक्ति माता पार्वती एवं भगवान शिव की प्राण प्रतिष्ठा एवं 11 दिनो तक चलने वाली श्री श्री 108 महारुद्र यज्ञ का आयोजन को लेकर शनिवार को कलश यात्रा निकाली गई । जिसमे दो सो से अधिक कुंआरी कन्याओं ने अपने अपने सीर पर कलश लेकर महुगांय गांव के रास्ते कपटी नदी , झांझी नदी एवं बरनार नदी के संगम तट से जल भरकर गंदर तथा इंटवा गांव के रास्ते तकरीबन पांच किलोमीटर दूर पैदल चलते हुए पुनः वापस यज्ञ स्थल पहुंची । कलश यात्रा के दौरान शोसल डिस्टेंस का पालन किया गया।

आदि शक्ति माता पार्वती एवं भगवान शिव की प्राण प्रतिष्ठा एवं महारुद्र यज्ञ को सफल बनाने के लिए विद्वान पंडित श्री प्रदीप कुमार पाण्डेय एवं आचार्य के रूप में श्री नागेश्वर पांडेय तथा यजमान के रूप में अपनी पत्नी सुनीता देवी के साथ कैलास सिंह शामिल हैं ।

बताते चलें कि माता पार्वती एवं भगवान शिव की प्राण प्रतिष्ठा के लिए पिछले पांच माह पूर्व में निर्धारित आज के दिन झंडोत्तोलन किया गया था । यहां बताते चलें कि कोरोना महामारी को लेकर पुरे देश में लागू लॉक डाउन के कारण आयोजित इस महारुद्र यज्ञ काफी फीकी पड़ गई है ।