आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के कार्य की हो जांच भ्रष्टाचार होने पर की जाए सख्त कार्रवाई बाल पुष्टाहार का हो नियमित वितरण

कन्नौज रिपोर्ट धर्मेंद्र सिंह

निर्माणाधीन कार्य में तेजी लाई जाए। जनपद की निष्क्रिय आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को चिन्हित कर मानदेय रोकते हुए सेवा समाप्ति का नोटिस दिया जाए। पोषण वितरण की नियमित समीक्षा सुनिश्चित की जाए। कार्य में शिथिलता मिली तो होगी कड़ी कार्यवाही।
आज जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने कैंप कार्यालय पर जिला कन्वर्जेंस प्लान कमेटी की बैठक की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को दिए।

उन्होंने जनपद में नावनिर्माणाधीन 60 आंगनवाड़ी केंद्र में से 30 केंद्र ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा किये जाने थे जिसमें से 27 केंद्रों का निर्माण पूर्ण बताया गया, एवं अन्य 30 क्षेत्र पंचायत द्वारा पूर्ण किये जाने थे जिसमें से 21 पूर्ण बताये गए, जिसपर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को अधिकारियों की टीम निर्धारित करते हुए जांचोपरांत हस्तांतरण की कार्यवाही करने के साथ ही त्रुटि पाए जाने पर संबंधित संस्था को नोटिस देते हुए कार्य को पूर्ण किये जाने हेतु निर्देश दिए।
उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्रों के लंबे समय से चल रहे निर्माण की प्रगति को दृष्टिगत रखते हुए नियमित समीक्षा न करने एवं कार्यों में रुचि न लेने पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को कड़ी फटकार लगाई, एवं क्षेत्र पंचायत में संचालित आगनवाड़ी केंद्रों के निर्माण कार्यों को 20 दिन का समय निर्धारित करते हुए शीघ्र पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिए।

उन्होंने पोषण अभियान की समीक्षा करते हुए जनपद में स्थित 1615 आंगनवाड़ी केंद्रों पर कुल 1525 आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों में से 658 कार्यकत्रियों के निष्क्रिय होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी कार्यकत्रियों का तत्काल प्रभाव से मानदेय रोके जाने एवं स्पष्टीकरण के रूप में सेवा समाप्ति का नोटिस दिए जाने के साथ ही जिला कार्यक्रम अधिकारी को कारवाही की पुष्टि 2 दिन में करते हुए आख्या प्रेषित किए जाने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने जनपद में वितरित किए जाने वाले पोषाहार वितरण की भी समीक्षा की एवं पोषाहार वितरण में सतर्कता बरतते हुए वितरण की नियमित समीक्षा करने एवं नियमित रूप से आने वाले पोषाहार एवं समय से बटने वाले पोषाहार के संबंध में नियमित रिपोर्ट प्रेषित किए जाने के भी निर्देश दिए।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, जिला विकास अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित समस्त सीडीपीओ व अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।