मंद गति से विकास कार्य पर जिलाधिकारी ने जारी किया 11 प्रधानों पर नोटिस

रिपोर्ट नितेश सिंह यादव चकिया चंदौली

खबर यूपी के जनपद चंदौली से है,जहा गांव में कच्छप गति से चल रहे विकास कार्यों पर जिलाधिकारी नाराजगी व्यक्त करते हुए जनपद के 11 प्रधानों को नोटिस जारी करते हुये यह स्पष्ट निर्देश दिया है कि 1 सप्ताह के अंदर जवाब संतोषजनक नहीं मिला तो संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

आपको बताते चलें कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव व शहरी क्षेत्रों में शौचालय का निर्माण कार्य के लिए सरकार के द्वारा सहयोग राशि दी जा रही है वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र लोगों को आवास योजना से लंबित किया जा रहा है लेकिन विगत कुछ महीनों से विकास कार्यों में गिरावट को देखते हुए जिलाधिकारी अब सख्ती करना शुरू कर दिये है। नक्सल प्रभावित क्षेत्र चकिया ब्लाक के लठियां, बरौझी, फिरोजपुर, नौगढ़ के मलेवर, बसौली, चहनियां के इटवां, खैरूद्दीनपुर, लक्ष्मणगढ़, रानेपुर, शहाबगंज ब्लाक के डूमरी और खोजापुर ग्राम पंचायतों से आए दिन आवास, शौचालय सहित विभिन्न विकास कार्यों को लेकर ग्रामीण जिलाधिकारी के पास शिकायत को लेकर आते जाते रहते थे। जिसके बाद जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने बीडीओ, एडीओ पंचायत व ग्राम पंचायत सचिवों के जरिए ग्राम प्रधानों को विकास कार्यों में तेजी लाने का निर्देश जारी किए थे।

लेकिन उनकी कार्यप्रणाली में सुधार नहीं आया। शासन स्तर से सामुदायिक शौचालयों के निर्माण के लिए ग्राम पंचायतों के खाते में धनराशि भेज दी गई है। वहीं केंद्र व राज्य वित्त की धनराशि भी मुहैया कराई गई है। इसके बावजूद गांवों में विकास कार्यों में तेजी नहीं आने पर डीएम ने सख्ती अब पेश आना शुरू कर दिए हैं। मामले की जानकारी देते हुए डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे ने बताया कि जिले के 11 प्रधानों को नोटिस जारी हुई है। उन्हे एक सप्ताह के अंदर संतोषजनक जवाब देना होगा। अगर संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो उनके ऊपर करवाई भी होगी।