आज कलश स्थापन प्रात: काल से पुरे दिन तक :आचार्य अभिषेक

चकिया पूर्वी चंपारण से अमितेश कुमार रवि की रिपोर्ट

चकिया। श्री शुभ संवत २०७७, आश्विन शुक्ल पक्ष , प्रतिपदा , शैलपुत्री पूजन 17 अक्टूबर 2020 शनिवार , कलश स्थापन प्रात: काल से पुरे दिन तक । विशेष अभिजीत मुहूर्त दिन में ११ बजकर ३६ मिनट से लेकर १२ बजकर २४ मिनट तक ।आज का शुभ रंग : लाल
माँ शैलपुत्री को लाल रंग बहुत प्रिय है | इसलिए उन्हें लाल रंग की चुनरी , नारियल और मीठा पान अवश्य भेंट करें | और लाल एवं पीला वस्त्र स्वयं भी धारण करें |
किस राशि के लिए शुभ सभी 12 राशियों के लिए शुभ, विशेषकर मेष_राशि के लिए अति उत्तम |

व्रत संकल्प के साथ जल ,गाय का दूध ,दही, घी, मधु, शक्कर अर्पित करें | इसके बाद वस्त्र, श्रृंगार सामग्री, पुष्प, कुमकुम, अक्षत, बिल्वपत्र ,चढ़ाएं धूप दीप दिखाकर हाथ धूल कर मिठाई – फल भोग लगाएं | पान, सुपारी, दक्षिणा के बाद शैलपुत्री माता से प्रार्थना करें |
ध्यान

वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥

कौनसी मनोकामनाएं होती है पूरी सच्चे मन से पूजा करने वाले मनुष्य के मन की सारी मुरादें पूरी होती हैं | मन कर्तव्य पथ से विचलित नहीं होता है | आज के दिन शैलपुत्री माता को गाय का शुद्ध घी भोग लगाए | इससे शरीर निरोगी रहता है ।