केंद्रीय मीडिया हेल्पलाइन एसोसिएशन ने पत्रकारों के हित के लिए उठाई आवाज, सौंपा राज्यपाल को ज्ञापन

उन्नाव से जिला ब्यूरो चीफ समीर खान की रिपोर्ट 

केन्द्रीय मीडिया हेल्पलाइन एसोसिएशन के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी व प्रदेश अध्यक्ष इमरान उस्मानी व प्रदेश सचिव नसीम अहमद ने पीड़ित पत्रकारों की उठाई आवाज और माननीय राज्यपाल को माननीय राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा

विषय
1-उत्तर प्रदेश शासन द्वारा पत्रकारों के ऊपर झूठे मुकदमे लिखकर पत्रकारों को जेल पहुंचाना यह एक निंदनीय विषय है
2_उत्तर प्रदेश शासन में उत्तर प्रदेश पुलिस व राजनेताओं द्वारा पत्रकारों को प्रताड़ित करना यह निंदनीय विषय है
3_पत्रकारों का मान सम्मान को ठेस पहुंचाना एक निंदनीय विषय हैं

एक निंदनीय घटना कानपुर नगर थाना नौबस्ता अंतर्गत हुई है पत्रकार नसीम सिद्दीकी के साथ पुलिस रिटायर्ड दबंग सत्ता धारियों ने पत्रकार नसीम सिद्दीकी की जान लेने की कोशिश करते हुए उनके पिता मोहम्मद समीम(साजन टेलर) की दुकान पर दिनदहाड़े लूटने का प्रयास करते हुए दुकान में मौजूदा लाखों के सामान के साथ बंद दुकान का शटर व दीवार को तोड़ा गया पत्रकार नसीम सिद्दीकी के परिवार को जान से मारने की धमकी दी गई ।

उत्तर प्रदेश के हर जिले में हर दिन पत्रकारों के ऊपर झूठे मुकदमे लिखकर पत्रकारों को जेल पहुंचाना उत्तर प्रदेश पुलिस व राजनेताओं द्वारा हो रहा है जबकि एक पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर जनता व देश की समस्याओं को कवरेज करता है ताकि सच दिखाया जा सके उत्तर प्रदेश सरकार पत्रकारों के ऊपर जरा भी ध्यान नहीं देती है जबकि पत्रकार भी भूखा प्यासा रहकर समाज की सेवा करता है पत्रकारों के प्रति उत्तर प्रदेश सरकार का यह रवैया निंदनीय है पत्रकार का भी मान सम्मान इस भारत देश में उतना ही है जितना कि भारतीय राजनेताओं व सरकारी अधिकारियों का है पत्रकारों का मान सम्मान आज आम नागरिकों के जैसा कर दिया गया है भारत सरकार यह भूल गई है कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ पत्रकार होता है यदि चौथा स्तंभ (पत्रकार) लोकतंत्र से हट जाए तो सरकार चलाना मुश्किल कार्य होगा।

भारत सरकार से हमारी मांगे
1_पत्रकारों के ऊपर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए भारत सरकार एक ठोस कदम उठाए।
2_संपूर्ण भारत में पत्रकारों के ऊपर जितने भी झूठे मुकदमे हैं उन मुकदमों को जल्द से जल्द हटा दिया जाए
3_पत्रकारों की जान की सुरक्षा व पत्रकारों का मान सम्मान बना रहे ऐसा कोई कानून होना चाहिए
4_न्यूज़ पोर्टल के पत्रकारों को भी सरकारी मान्यता प्राप्त कराई जाए।
5_न्यूज़ पोर्टल के पत्रकारों को भी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए।
6_पत्रकार पर जगह-जगह हो रहे हमलों में तुरंत कार्रवाई हो और आरोपियों को गिरफ्तार कर तुरंत जेल भेजा जाए
7_समाचार संकलन के दौरान पत्रकारों को सहयोग न करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए।
8_ मृतक पत्रकार के परिजनों की रोजी-रोटी की समस्या को दूर करने के लिए भारत सरकार को मृतक पत्रकार के परिजनों को पेंशन योजना दी जाए।
9_पत्रकारों का मासिक भत्ता लागू किया जाए।
10_पत्रकारों से टोल टैक्स माफ किया जाए।

आज कानपुर नगर में केन्द्रीय मीडिया हेल्पलाइन एसोसिएशन के द्वारा वह समस्त पत्रकार बंधुओं ने मिलकर पत्रकारों के ऊपर हो रहे अत्याचार को रोकने व उनके ऊपर झूठे मुकदमे जल्द से जल्द हटाए जाने की मांग की।
जिसमें केन्द्रीय मीडिया हेल्पलाइन एसोसिएशन के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी व प्रदेश सचिव नसीम अहमद व मंडल अध्यक्ष वासिफ खान जिला अध्यक्ष नसीम सिद्दीकी जिला मंत्री फरमान जिला महासचिव सचिन कुशवाहा शहंशाह आलम द्वारा जिलाधिकारी कानपुर नगर को ज्ञापन सौंपा गया ।