भभुआ कैमूर के चारों विधानसभा पर भाजपा की दावेदारी हुई खत्म, तीन राजद के कब्जे में व 1 बसपा के खाते

कैमूर जिला ब्यूरो आशुतोष कुमार सिंह की रिपोर्ट

भभुआ ( कैमूर ) बिहार विधानसभा चुनाव में कैमूर की 4 सीटों में तीन सीट पर राजद एक पर बसपा ने जीत हासिल किया बता दें कि वर्ष 2015 में हुए कैमूर बिहार विधानसभा चुनाव में चारों सीटों पर भाजपा का कब्जा हो गया था । लेकिन वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में राजनीतिक बदलते समीकरण एवं दांवपेच के बीच कैमूर की चारों सीट भाजपा के हाथ से निकल गई है । चारों विधानसभा सीटों पर मतों की गिनती शुरू हुई जैसे जैसे गिनती का चक्र बढ़ते गया वैसे-वैसे चुनाव परिणाम में उतार-चढ़ाव देखने लगा लेकिन अंतिम दौर में रामगढ़ सीट का रिजल्ट चौंकाने वाला आ गया रामगढ़ में बसपा प्रत्याशी अंबिका यादव चुनाव जीत चुके थे और उनकी घोषणा मीडिया के द्वारा चैनलों पर चला दिया गया उसके बाद फिर दोबारा क्या हुआ कि री एकाउंटिंग कराते हुए राजद के प्रत्याशी सुधाकर सिंह 189 वोट से विजई घोषित हुए सुधाकर सिंह को कुल 58083 वोट मिला था और बसपा के अंबिका सिंह यादव को 57894 मत प्राप्त हुआ रामगढ़ से भाजपा के सिटिंग एमएलए अशोक सिंह 56084 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहे वही मोहनिया विधानसभा में संगीता कुमारी ने भाजपा विधायक निरंजन राम को 12052 वोट से पराजित किया राजद प्रत्याशी संगीता कुमारी को कुल 61235 वोट मिला है जबकि भाजपा प्रत्याशी निरंजन राम को 49181 मत प्राप्त हुए और वही रालो सपा उम्मीदवार सुमन देवी को 39855 वोट पाकर तीसरे स्थान पर रही और भभुआ में राजद प्रत्याशी भरत बिंद ने भाजपा के सिटिंग विधायक रिंकी रानी पांडे को 10045 वोट से पराजित किया भरत बिंद को कुल 57561 वोट मिला है और वही रिंकी रानी को 47 516 तथा तीसरे नंबर पर रहे रालो सपा प्रत्याशी वीरेंद्र कुशवाहा को 370 14 मत प्राप्त हुए हैं एवं चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार मोहम्मद जमा खान ने सिटिंग विधायक सह खनन मंत्री बृजकिशोर बिंदु को 24294 मतों से पराजित किया है जमा खान को कुल 95 245 प्राप्त किया और वही बृजकिशोर बिंदु को 70 951 मत प्राप्त हुआ है।
बता दें कि मतगणना केंद्र स्थल बाजार समिति मोहनिया में तगड़ी सुरक्षा के बीच प्रशासन ने चाक-चौबंद व्यवस्था किया था और मतगणना के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था को डायवर्ट कर दिया गया था वहीं दूसरी तरफ चुनाव परिणाम जानने के लिए शहर से लेकर ग्रामीण लोगों में काफी उत्साह देखा गया ।

रामगढ़ विधानसभा सीट की मतगणना करीब 3 घंटे तक रुकी रही पहले 12:00 बजे ईवीएम खराब हुई उसमें करीब आधा घंटा लगा उसके बाद 1:00 बजे प्रिंटर खराब होने में काफी परेशानी हुई इस कारण आधा घंटा और विलंब हुआ और अंत में 30 वें राउंड की घोषणा के समय दो मतदान केंद्रों की ईवीएम खराब होने से करीब 2 घंटे तक मतगणना का कार्य बाधित रहा अंत में वीवीपैट की पर्ची से मतगणना शुरू की गई इस कारण रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र का परिणाम आने में काफी विलंब हुआ शुरू में लग रहा था कि रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र का रिजल्ट सबसे पहले घोषित हो जाएगा । क्योंकि मतगणना का रुझान सबसे पहले रामगढ़ से ही आ रहा था लेकिन ईवीएम के डिस्प्ले में खराबी आने तथा प्रिंटर की गड़बड़ी के कारण 3 घंटे मतगणना के कार्य प्रभावित रहा वहीं दूसरी तरफ जीते प्रत्याशियों के समर्थकों ने सड़कों पर जुलूस निकालकर जश्न मनाते नजर आए।