उन्नाव में त्रिदिवसीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का एसपी ने किया समापन वितरण किए प्रमाणपत्र

 

जिला क्राइम ब्यूरो चीफ रामशरण कटियार की रिपोर्ट

4 कालेजों की 41 छात्राओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर

उन्नाव। पुलिस लाइन मैदान में चल रहे तीन दिवसीय आत्म रक्षा प्रशिक्षण शिविर का समापन हुआ। पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने इस अवसर पर सभी प्रतिभागी छात्राओं को प्रशस्ति पत्र वितरित करते हुए कहा कि जनपद की सभी छात्राओं को आत्मरक्षा के प्रति सजग होना चाहिए, इसके लिए समय समय पर इस प्रकार के कैम्प आगे भी आयोजित होंगे। पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर व लाइन यादवेंद्र यादव ने प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि अब नारी अबला नही सबला है, और नई पीढ़ी को ज्यादा सबल बनने की ज़रूरत है।

समन्वयक प्रभारी निरीक्षक यातायात इंद्र पाल सिंह ने बालिकाओं को ट्रैफिक नियमों के पालन का संदेश दिया वहीं समन्वयक डॉ आशीष श्रीवास्तव ने प्रशिक्षकों पारुल कुमार और सोनू कुमार के साथ छात्राओं द्वारा कुछ विशेष स्टेप और आत्म रक्षा की मुद्राएं प्रस्तुत कराईं। समन्वयन समिति से, संचालन कर रहे डॉ मनीष सिंह सेंगर ने अपने प्रेणादायी जुमलों से छात्राओं की हौसलाअफजाई की।

डॉ जी नाथ जी कॉलेज, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज, अटल बिहारी इंटर कॉलेज, रानी लष्मी बाई इंटर कॉलेज की 41 छात्राओं और प्रशिक्षकों को पुलिस अधीक्षक अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पांडेय और क्षेत्राधिकारी नगर ने प्रमाण पत्र भेंट कर सम्मानित किया।

पुलिस परिवार परामर्श केंद्र प्रभारी अर्चना गौतम, शिक्षिका डॉ रचना सिंह ने महिला शशक्तिकरण के गुर बताए। इसी क्रम में शिविर के सफल समन्वयन और संचालन के लिए यातायात प्रभारी निरीक्षक इंद्रपाल सिंह, डॉ आशीष श्रीवास्तव और डॉ मनीष सिंह सेंगर को विशेष रूप से सम्मानित किया गया।

प्रतिसार निरीक्षक सुभाष चंद्र मिश्रा ने सभी के प्रति आभार जताया। पुलिस विभाग से एस आई भगत सिंह, संजय यादव, अजय यादव, सपना, नरेंद्र, धनंजय, सचिन आदि सहित यातायात विभाग से राजवीर, राजेश सिंह आदि सहित सैकड़ों की संख्या में अभिभावक और शिक्षक व सहयोगी उपस्थित रहे।