संविधान दिवस पर लोगों को बतायी गयी संविधान की महत्ता

रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद

मैनाटाड़: गुरुवार को प्रखंड के सगरौवा गांव में संविधान दिवस मनाया गया। इस अवसर पर भाजपा युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष आर्यन अगिनहोत्री ने संविधान की प्रस्तावना सुना कर उसकी महत्ता के बारे में लोगों को विस्तार से बताया गया। उन्होंने कहा कि संविधान दिवस हर साल 26 नवंबर को मनाया जाता है।इसी दिन भारत के संविधान मसौदे को अपनाया गया था। 26 नवंबर भारतीय इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना है। भारत का संविधान वह ताक़त है जो इस देश को एक और अखंड रखने के साथ एक नए भारत के निर्माण की बुनियाद भी तैयार करता है।

उन्होंने कहा कि विविधताओं से भरे भारत को जोड़ने के लिए बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर समेत देश के संविधान निर्माताओं की जो भूमिका रही है। भारतीय संविधान की प्रस्तावना के अंतिम शब्द हैं, कि हम दृढ़संकल्प होकर, इस संविधान को ‘आत्मार्पित’ करते हैं। हम इसे ‘आत्मार्पित’ करते हैं। यानी सबसे पहले इसका पालन हम स्वयं करेंगे, फिर औरों को भी इसके प्रति जागरूक भी करेंगे। यह संविधान की भावना है।इसी का हमें ध्यान रखना है।मौके विजेंद्र चौधरी, अभिषेक कुमार, रामू चौधरी, धनंजय कुमार, गोलू कुमार, यशवंत कुमार, दिलीप कुमार, रोहित कुमार, जन्मेजय कुमार आदि शामिल रहे।