सीमा से तीन कार्टून में 270 पीस शराब की बोतलें जब्त, तीन तस्कर फरार/ मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का आरटीपीएस कक्ष व काउंटर पर हो रहा है उल्लंघन

रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद

सीमा से तीन कार्टून में 270 पीस शराब की बोतलें जब्त, तीन तस्कर फरार

मैनाटांड़: पुलिस कप्तान के निर्देश पर अंचल क्षेत्र के सभी थानों के द्वारा शराब के धंधेबाजो की विरूद्ध विशेष अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार की देर रात को पुरुषोत्तमपुर पुलिस ने तिलंगही बहुअरवा गांव के पूरब घोड़ासहन कैनाल के समीप से तीन बोरा में रखे गये भारी मात्रा में शराब की बोतलों को जप्त किया है। पुरुषोत्तमपुर थानाध्यक्ष कैलाश कुमार ने बताया कि पुलिस की गश्त टीम रात्रि में गश्त पर थी। तभी घोड़ासहन कैनाल पर कुछ हलचल का आभास हुआ। तुरंत घोड़ासहन कैनाल के पास सदल बल पहुंचा गया तो देखा गया कि तीन व्यक्ति नहर का पानी पार कर भारतीय क्षेत्र में माथा पर बोरा लिये हुए भारतीय क्षेत्र में घुस रहे हैं। पुलिस को देखते हुए तीनों अज्ञात व्यक्ति माथा पर लिए हुए अपने-अपने बोरा को फेंक कर पानी पार कर नेपाल की तरफ भाग गये। पुलिस ने फेके गये बोरों की तलाशी ली तो तीनों बोरा में तीन कार्टून में से 270 अदद शराब की बोतलें मिली। थानाध्यक्ष ने बताया कि इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर अग्रेतर कार्रवाई की जा रही है।


मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का आरटीपीएस कक्ष व काउंटर पर हो रहा है उल्लंघन

मैनाटांड़: कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मास्क पहनना व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना गृह विभाग के द्वारा अति आवश्यक कर दिया गया है। जगह-जगह मास्क जांच का अभियान चलाया जा रहा है ।सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने के लिए अधिकारी भी सजग हैं। लेकिन बुधवार को मैनाटांड़ प्रखंड सह अंचल कार्यालय स्थित आरटीपीएस काउंटर में बिना मास्क की ही कर्मी व आम जनता देखे गये। भीड़ का यह आलम था कि सोशल डिस्टेंसिंग का तो नामों निशान नहीं था। आखिर में सवाल उठता है कि जहां से दिशा निर्देश जारी होता है वहीं पर के स्टॉफ बिना मास्क के काम करेंगे तो इसका मैसेज लोगों में क्या जायेगा। एक तरफ मास्क पहनने के लिए लगातार दिशा निर्देश जारी किए जा रहे हैं तो दूसरी तरफ आरटीपीएस काउंटर में इसका उल्लंघन देखा जा रहा है। जो कहीं से ना कहीं कोविड-19 के संक्रमण के बुलावे पर भारी पड़ सकता है।लोगों में यह भी चर्चा बना रहा कि मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग अनुपालन करना आम जनता के लिए है कि सरकारी कर्मियों के लिए भी।