आखिर शिक्षा विभाग के अधिकारियों की खुली नींद, 20 महीने बाद विद्यालय का खुला ताला

वैशाली जिला ब्यूरो प्रबंधन कुमार मिश्रा एवं नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

शुक्रवार को प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा नियुक्त दंडाधिकारी प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी मनोज दुबे के साथ प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अवधेश कुमार सहदेई बुजुर्ग प्रखंड के विभिन्न स्कूलों के समन्वयकों के साथ प्राथमिक विद्यालय रेपूरा सुलतानपुर पहुंचे और विद्यालय का ताला तोड़ने का काम पूरा किया।विद्यालय का ताला तोड़ने हेतु प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के आग्रह पर प्रखंड के वीडियो ने 26 सितंबर 2020 को ही पत्र निर्गत कर प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी को दंडाधिकारी के रूप में नियुक्त किया था।इसके बाद भी ताला खोलने पर खुलने पर प्रखंड के दौरे पर आई जिला के डीएम को भी इसकी जानकारी दी गई थी।पिछले दिनों हुए जिला परिषद के शिक्षा समिति की बैठक में भी इस मामले को उठाया गया था।जिसके बाद मई 2019 से बंद विद्यालय के कार्यालय एवं वर्ग कक्ष को के ताला को खुलवाने का कार्य शुक्रवार को पूरा हो सका।शुक्रवार को विद्यालय पहुंचे अधिकारियों ने सभी कमरों का बारी बारी से ताला खुलवाया और कार्यालय के सभी अभिलेखों एवं सामग्रियों की सूची बनाकर विद्यालय की वर्तमान प्रधान शिक्षिक कंचन कुमारी को हस्तगत कराया।अधिकारियों ने पिछले लगभग आठ वर्षों से बंद एक अन्य वर्ग कक्ष का भी ताला खुलवाया।

यहां यह उल्लेखनीय है कि विद्यालय के निवर्तमान प्रधान शिक्षक चंद्रमौली प्रसाद सिंह प्रशासन ने लोकसभा चुनाव 2019 के कार्य में जाने के समय सभी वर्ग कक्ष एवं कार्यालय में ताला मार कर चले गए थे।उसके बाद से ही विद्यालय का वर्ग कक्ष एवं कार्यालय बंद था।कुछ माह पूर्व काफी मिन्नतों के बाद केवल एक कमरे का ताला चंद्रमौली प्रसाद सिंह ने खोला और फिर वापस चले गए।उसके बाद से वह लौटकर फिर विद्यालय नहीं आए।जिसके बाद कार्रवाई करते हुए जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना ने उन्हें निलंबित कर दिया।अभी भी चंद्रमौली प्रसाद सिंह निलंबित है।कई बार विभागीय पत्राचार और मोबाइल पर बात करने के बाद भी वह कार्यालय और वर्ग वर्ग कक्ष का चाभी देने को तैयार नहीं हुए।कार्यालय बंद रहने के कारण मेघा सॉफ्ट में बच्चों की इंट्री नहीं हो रही थी साथ ही विद्यालय के कई कार्य प्रभावित हो रहे थे।जिसके बाद ताला तोड़ने की करवाई की गई।इस मौके पर उपस्थित जिला पार्षद मनीन्द्र नाथ सिंह ने महीनों से कार्यालय बन्द रहने के लिये जिम्मेवार अधिकारियों को चिन्हित कर करवाई करने एवं दोषी शिक्षक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की मांग किया।इस मौके पर मनीन्द्र नाथ सिंह के साथ पैक्स अध्यक्ष ब्रजेश कुमार राय,संकुल समन्वयक वशिष्ट कुमार,सतीश कुमार,माधुरी भारती,नंदन कुमार चंदन,सुभाषचन्द्र राय,शशि भूषण, ज्ञानेंद्र नाथ सिंह,प्रधानाध्यापक अनिल कुमार, दिलेर अली खान,वि० शि० समिति की अध्यक्ष रेहाना खातून,सचिव पिंकी देवी,सुनीता देवी,रौनक परवीन, शांति देवी, रेखा देवी,प्रधान शिक्षक कंचन कुमारी, शिक्षक रवीन्द्र राय,रामबाबू पासवान,पंकज कुमार अमर, संजय कुमार राय, रघुवंश पासवान, शशि कुमारी, लीला कुमारी ,इंद्र कुमार राय आदि उपस्थित रहे।