मकर संक्रांति पर पांच ग्रह होंगे एक साथ,बन रहा शुभ संयोग

रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया

मैनाटाड: इस बार मकर संक्रांति पर्व 14 जनवरी गुरुवार को मनाया जायेगा । इस पर्व को खिचड़ी भी कहा जाता है । इस दिन खिचड़ी खाने की प्राचीन परंपरा है । आचार्य सुनील मिश्रा ने बताया कि मकर संक्रांति का उल्लेख हिन्दू धर्मग्रंथ, धर्मसूत्र और आचार संहिता में वर्णन मिलता है । सूर्य उत्तरायण के बाद देश भर में मकर संक्रांति का पर्व अलग – अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाया जाता है । इस दिन गंगा या किसी नदी में जाकर स्नान करना शुभ माना जाता है । इस दिन पवित्र नदी में स्नान एवं दान-पुण्य के कार्य करने से दोगुना फल मिलता है । उन्होंने बताया कि इस बार मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त मकर संक्रांति पर पूजा पाठ , स्नान और दान के लिए सुबह 8.30 बजे से शाम 5.46 तक पुण्य काल रहेगा । वही गुरुवार को मकर राशि में पांच ग्रहों का संयोग मकर संक्रांति पर इस बार ग्रहों का खास संयोग बन रहा है । इस मकर संक्रांति पर मकर राशि में कई महत्वपूर्ण ग्रह एक साथ विराजमान होंगे । इस दिन सूर्य, शनि, गुरु, बुध और चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे । मकर राशि में ये पांचों ग्रह शुभ योग का निर्माण कर रहे हैं । मान्यता है कि इस दिन किया गया कोई भी दान और स्नान जीवन में बहुत ही काफी पुण्य फल प्रदान करने वाला होता है।