दाखिल खारिज के नाम पर अवैध राशि वसूलने का आरोप

 

नजराना नहीं देने पर आवेदकों को टहलाया जाता है

अरवल जिला ब्यूरो चीफ संवाददाता बीरेंद्र चंद्रवंशी की रिपोर्ट

कुर्था अरवल, एक तरफ राज्य सरकार भूमि विवाद जैसे मामले को निपटाने को लेकर आए दिन एक से बढ़कर एक योजनाएं चला रही है जिसके तहत लोगों को आसानी से जमीन संबंधित कार्य दाखिल खारिज रसीद कटवाना डिमांड अलग करवाना समेत विभिन्न प्रकार के जमीन से संबंधित समस्याओं को निपटारा आसानी तरीके से किया जाए इसको लेकर आए दिन तरह तरह के कार्य कर रही है परंतु राजस्व कर्मचारियों की मनमानी एवं गैर जिम्मेदाराना हरकत का आलम यह है कि जमीन मालिकों से दाखिल खारिज डिमांड अलग करवाना समेत विभिन्न कार्यों में अवैध रूप से नजराना वसूलते हैं हालांकि उक्त मामले की खुलासा तब हुआ जब कुर्था प्रखंड क्षेत्र के निघमा गांव निवासी अवधेश कुमार सिंह ने पत्रकारों के समक्ष प्रेस बयान जारी कर बताया उन्होंने बताया कि निघवा पंचायत के राजस्व कर्मचारी राम विनय शर्मा डिमांड अलग करवाने के नाम पर हमसे 14 हजार रुपये की मांग कर रहे हैं राशि नहीं देने पर अक्सर हमें टहलाया जा रहा है हमेशा 10 दिन के बाद 15 दिन के बाद कह कर यह टहलाते हैं बोलते हैं कि जब तक 14 हजार रुपये नहीं दोगे तब तक डिमांड अलग नहीं करूंगा।

क्या कहते हैं अधिकारी

इस तरह के मामले अगर हो तो वैसे लोग सीधा हमसे मिले मैं उस मामले का निष्पादन करूँगा अगर कोई राजस्व कर्मचारी अवैध राशि की मांग कर रहे हैं तो इसकी जांच की जाएगी जांच उपरांत उनपर कार्रवाई की जाएगी।

मनोज कुमार, अंचल अधिकारी कुर्था