मानव श्रृंखला को लेकर के महागठबंधन का कुर्था प्रखंड में दूसरे दिन भी प्रचार।

किसानी और खेती को बर्बाद कर देने वाले कानून है कृषि कानून- भाकपा – माले

किसान विरोधी तीन काले कानून रद्द होना ही चाहिए – अवधेश यादव

अरवल जिला ब्यूरो संवाददाता विरेंद्र चंद्रवंशी की रिपोर्ट

शहीद कॉ बीरेंद्र विद्रोही और महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर 30 जनवरी को महागठबंधन के द्वारा किसान विरोधी तीन काले कानून के खिलाफ किसानों का मानव श्रृंखला पूरे बिहार में लगाया जाएगा,उसकी की तैयारी में हरेक चटी बजारो में जैसे कुर्था,विद्रोही चौक, मानिकपुर,मोतीपुर किंजार बाजार में सघन प्रचार अभियान चलाते हुए, सभा किया गया, सभा को संबोधित करते हुए इनोस राष्ट्रीय परिषद सदस्य एवं माले नेता ने कहा कि नए कृषि काले कानून कारपोरेट को फायदा पहुंचाएगा, इस कानून से गरीब एवं छोटे मझोले किसान बेरोजगार हो जाएंगे। मोदी सरकार इसी तरह के नए कानून बनाकर पूंजीपतियों के हाथ मजबूत करने में लगे हुए हैं।
आगे उन्होंने कहा कि किसान विरोधी तीन काले कानून किसान और खेती को तबाह करने वाला कानून है,इसे रद्द होना ही चाहिए, मोदी सरकार 2014 से ही नए- नए कानून बनाकर जनता को तंगो – तबाह एवं परेशान किया जा रहा है, जैसे सीए, एनआरसी, एनपीआर एवं नोटबंदी जीएसटी लाकर गरीब एवं असहाय लोगों को परेशान कर जीना हराम भाजपा सरकार कर दी हैं। इस कानून को रद्द करने को लेकर के ही 30 जनवरी को पूरे बिहार में किसानों को विशाल मानव श्रृंखला होगा, सभा को इनौस प्रखंड सचिव कामरेड दीपक कुमार, राजद के प्रखंड अध्यक्ष डोमन दास, राजद के मीडिया प्रभारी दरोगा यादव, फूलचंद यादव,सीपीआई के लाल बहादुर शास्त्री आदि नेताओं ने भी संबोधित किया।

भाकपा माले कार्यालय सचिव, कुर्था
अवधेश यादव