सेंटर ऑफ एक्सीलेंट फॉर फ्रूट्स केंद्र में पहुंचे न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद

वैशाली जिला ब्यूरो संवाददाता प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

सहदेई बुजुर्ग – सहदेई बुजुर्ग प्रखंड के पहाड़पुर तोई गांव स्थित सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर फ्रूट्स केंद्र में गुरुवार को पटना उच्च न्यायालय के न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद पहुंचे। उन्होंने केंद्र के चारों ओर भ्रमण कर यहां चल रहे कार्यक्रमों की जानकारी ली।उनके साथ उद्यान विभाग के राज्य एवं जिला के कई पदाधिकारियों के साथ जिला कृषि पदाधिकारी भी मौके पर उपस्थित रहे।

पटना उच्च न्यायालय के न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद गुरुवार को पहाड़पुर तोई स्थित सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर फ्रूट्स केंद्र का परिभ्रमण किया।उन्होंने परिसर स्थित पॉली हाउस,हाईटेक नर्सरी आदि सहित यहां चल रहे विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम की जानकारी विस्तार से ली।उनके साथ मौके पर मौजूद राज्य के उद्यान विभाग के उपनिदेशक नीतीश कुमार राय,जिला कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार एवं सहायक निदेशक उद्यान ओम प्रकाश मिश्रा ने यहां फलों के तैयार किए जा रहे पौधों के बारे में विस्तार से बताया।राजीव रंजन प्रसाद ने स्ट्रौबरी उत्पादन,केला,पपीता,लीची,आम,अमरूद,अनार,खरबूज आदि फलों के उत्पादन के संबंध में जाना।कृषि विभाग के पदाधिकारियों ने पौधों के कलम तैयार करने सहित बीज से पौधे बनाए जाने की जानकारी विस्टार से दिया।न्यायाधीश को स्ट्रॉबेरी का फल भी खिलाया गया।जिसके बाद उन्होंने इस फल के स्वाद की खूब तारीफ की और इससे उत्तम क्वालिटी का बताया।इसके पूर्व सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर फ्रूट्स केंद्र पहुंचने पर न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।वही इस मौके पर मौजूद जिला पार्षद जसवीर कुमार सिंह ने न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद को एक आवेदन देकर सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर फ्रूट्स केंद्र देसरी का नाम बदलकर सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर सहदेई बुजुर्ग करने की मांग की।उन्होंने कहा कि कहा कि यह सहदेई प्रखंड में स्थित है लेकिन इसके नाम के साथ देसरी प्रखंड जुड़ा है।इससे यहां की जनता का अपमान हो रहा है।

इस मौके पर परियोजना पदाधिकारी प्रशांत कुमार,पूर्व जिला उद्यान पदाधिकारी नागेश्वर ठाकुर,अंकित कुमार,राजेश कुमार,प्रभारी आलोक कुमार,प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉक्टर मोहम्मद इस्माइल अंसारी,देसरी थाना अध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी राजेश कुमार,सहदेई ओपी अध्यक्ष धनंजय चौधरी के साथ अन्य पुलिस एवं प्रशासनिक पदाधिकारी एवं कृषि विभाग के प्रखंड स्तरीय कई कर्मचारी आदि उपस्थित रहे।