Breaking News

समाहरणालय के परिचर्चा भवन में उप विकास आयुक्त तरनजोत सिंह ( भा0 प्र0 से0 ) की अध्यक्षता में विभिन्न संबंधित विभागों के माहवारी स्वछता प्रबंधन विषय पर समन्वय बैठक

सीतामढ़ी से दीपक पटेल की रिपोर्ट



सीतामढी : जिला प्रशासन के सहयोग से  नव अस्तित्व फाउंडेशन एवम  यूनिसेफ के तत्वाधान में   समाहरणालय के  परिचर्चा भवन में उप विकास आयुक्त तरनजोत सिंह ( भा0 प्र0 से0 ) की अध्यक्षता में  विभिन्न संबंधित विभागों के माहवारी स्वछता प्रबंधन विषय पर  समन्वय बैठक सह  कार्यशाला का  आयोजन किया गया । जिसका विधिवत उद्घाटन उप विकास आयुक्त ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया।  नव अस्तित्व फाउंडेशन की प्रतिनिधि पल्लवी सिन्हा ने सभी उपस्थित का स्वागत करते हुए पावर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से  माहवारी स्वच्छता प्रबंधन पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने बताया की सीतामढी जिले के चयनित रीगा ब्लॉक में जीविका,आईसीडीएस, स्वास्थ्य,शिक्षा, पंचायती राज, जनसम्पर्क,,कल्याण विभाग आदि के साथ सहयोग से माहवारी स्वच्छता प्रबंधन प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक लागू किया जाएगा। इसके पूर्व पटना से ऑनलाइन जुड़े यूनिसेफ के राज्य प्रतिनिधि ने भी वर्चुअल माध्यम से अपने विचार रखे। उपविकास आयुक्त तरनजोत सिंह ने सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं यथा कन्या उत्थान योजना, मुख्यमंत्री किशोरी स्वास्थ्य योजना आदि पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि सभी संबधित योजनाओ को एक साथ लाकर आपसी समन्वय  के माध्यम से माहवारी स्वच्छता प्रबंधन  कार्यक्रम को मजबूती के साथ सफलता पूर्वक लागू किया जा सकता है।उन्होंने कहा कि आज भी माहवारी स्वच्छता प्रबंधन को लेकर समाज मे कई प्रकार की भ्रांतियां, अन्धविश्वाश आदि व्याप्त है,जिसको लेकर व्यापक जागरूकता किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों विशेषकर सूचना एवम जनसम्पर्क एवम मीडिया के विभिन्न माध्यमो से व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।डीपीआरओ परिमल कुमार ने कहा कि माहवारी स्वच्छता को लेकर जिले की सक्सेस स्टोरी को विभिन्न माध्यमो से जन-जन तक पहुँचाकर लोगो को जागरूक किया जाएगा,साथ ही प्रचार-प्रसार के विभिन्न माध्यमो के द्वारा व्यापक जागरूकता अभियान चलाई जाएगी। जीविका डीपीएम इंदु शेखर ने कहा कि जीविका के प्रत्येक स्तर पर कार्यरत जीविका दीदियों और समुदाय की महिलाओं के बीच माहवारी स्वच्छता प्रबंधन हेतु कार्यशाला सह प्रशिक्षण को लेकर  कार्ययोजना बनाकर कार्य किया जायेगा,साथ ही संस्था के सहयोग से जीविका दीदियों के द्वारा सस्ते एवम गुणवत्तापूर्ण सैनेटरी पैड निर्माण को लेकर योजना बनाई जाएगी। कार्यशाला में उपस्थित डॉ रविन्द्र यादव ने माहवारी के विषय मे अंधविश्वास, मिथक पर प्रकाश डालते हुए उसके वैज्ञानिक पहलुओं पर भी विस्तृत प्रकाश डाला। इसके अतिरिक्त संस्था की प्रतिनिधि अमृता सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने भी अपनी बात रखी। बैठक ने उपस्थित मीडिया प्रतिनिधियों ने भी अपने बहुमूल्य सुझाव दिए।कार्यशाला में सभी विभागों  को माहवारी जैसे संवेदनशील विषय पर एक मंच पर लाकर माहवारी स्वच्छता प्रबंधन से जुड़ी योजनाओं, चुनौतियों तथा सुझाव एवं समाधान पर व्यापक चर्चा की गई ताकि सीतामढी जिले के रीगा ब्लॉक में नव अस्तित्व फाउंडेशन तथा यूनिसेफ, बिहार के इस महत्वपूर्ण योजना को सफलतापूर्वक लागू किया जा सके। उक्त कार्यक्रम में सुरेश चंद्र लाल,डीपीआरओ परिमल कुमार,डॉ रविन्द्र यादव, जिला शिक्षा पदाधिकारी सचिन्द्र कुमार , जीविका डीपीएम इन्द्र शेखर इंदु , रूपम कुमारी, प्रभारी सहायक निर्देशक बाल संरक्षण इकाई,सोनी कुमारी, नव अस्तित्व फाउंडेशन की  प्रतिनिधि पल्लवी सिन्हा, अमृता सिंह , उज्ज्वल कुमार,  प्रकाश ठाकुर, ज्योति शर्मा, और नूतन साह आदि उपस्थित थे । सजग रहे,सतर्क रहें,मास्क पहनकर ही बाहर निकले,सदैव सामाजिक दूरी का पालन करे,किसी भी प्रकार के लक्षण महसूस होने पर जिला प्रशासन के नंबर 06226...250316 पर सम्पर्क करें।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!