Breaking News

दो भाइयों का शव गढ़ी के जंगल में मिलने के बाद परिजन व वर्णवाल संघ ने SP को आवेदन देकर कार्रवाई का किया मांग।


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

खैरा थाना क्षेत्र के गढ़ी जंगल मे झारखंड के तीसरी निवासी दो सगे भाई अंशु वर्णवाल और चंदन वर्णवाल का शव बुधवार को मिलने के बाद मृतक के परिजन गुरुवार की दोपहर बाद समाहरणालय पहुंचे। साथ मे वर्णवाल सेवा समिति के जिलाध्यक्ष पालकधारी वर्णवाल, सचिव महेंद्र वर्णवाल और कोषाध्यक्ष त्रिपुरारी वर्णवाल भी मौजूद रहे।वहीं परिजनों ने एसपी प्रमोद कुमार मंडल को आवेदन देकर घटना से अवगत कराते हुए अपराधियों पर कार्रवाई करने की मांग की है।

साथ ही एफआईआर दर्ज नहीं करने और पुलिस की लापरवाही को लेकर खैरा थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान पर भी कार्रवाई करने की मांग की है।परिजनों ने बताया कि सोनो निवासी प्रभाकर मंडल जो पीर बाबा के नाम से प्रसिद्ध है।जिसके पास दोनों भाईयों का 3 वर्षों से आना जाना लगा हुआ था।इस दौरान पैसा डबल करने को लेकर दोनों भाइयों द्वारा प्रभाकर को लगभग 40 से 50 लाख रुपया दिया था।उसके बाद 22 जून को प्रभाकर मंडल के द्वारा पैसा देने की बात कही गई थी।जिस वजह से दोनों भाई तीसरी से बाइक से पैसा लेने प्रभाकर के पास आया था और उसी दिन से गायब हो गया।

उन्होंने बताया कि 23 जून को गढ़ी के समीप से मृतक अंशु का पर्स मिलने पर जब खैरा थाना में मुकदमा दर्ज कराने के लिए जाया गया था तो मुकदमा दर्ज नहीं की गई और थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान द्वारा भगा दिया गया और तीसरी में ही मुकदमा दर्ज कराने की बात कही गई,वहीं परिजनों ने एसपी से न्याय की गुहार लगाते हुए अपराधी प्रभाकर मंडल पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की,और दोनों भाइयों के हत्या का दोषी थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान को भी बताया।

आपको बता दें कि झारखंड के तीसरी गांव निवासी दो सगे भाई चंदन वर्णवाल और अंशु वर्णवाल का शव एक महीने पर कंकाल के रूप में बुधवार को खैरा थाना क्षेत्र के गढ़ी जंगल मे मिला था।साथ ही घटना स्थल से मृतक की बाइक भी बरामद किया गया गया था।दोनों सगे भाइयों की पहचान बाइक और कपड़े से ही की गई थी। दोनों भाई 22 जून से गांधी डैम के समीप से गायब हुए थे। और दोनों का शव बाइक के साथ एक महीने पर 21 जुलाई बुधवार को गढ़ी जंगल से बरामद हुआ था।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!