Breaking News

पांच मासूम बच्चों का भरण-पोषण बना लोगों के लिए यक्ष प्रश्न


रोहतास बिक्रमगंज संवाददाता राजू रंजन दुबे की रिपोर्ट

मृतक की वृद्ध मां, पत्नी और बच्चों को रोते रोते बुरा हाल

रोते बिलखते मृतक की मां और बेटियां

बिक्रमगंज(रोहतास)। बब्लू सिंह के शव मिलने की सूचना के बाद परिवार में कोहराम मच गया । मृतक की मां, पत्नी और बेटियों के रूदन-क्रंदन से पूरा गांव दहल गया । मृतक की मां और पत्नी रोते-रोते बेहोश हो जाती थी। बेटियों का भी रोते-रोते बुरा हाल हो रहा था । आसपास की औरते जहां सभी को चुप कराने का प्रयास कर रही थी । वहीं लोग परिजनों को सांत्वना दे रहे थे । बताया जाता है कि मृतक के पांच मासूम बच्चे हैं । जिसमें तीन बेटियां और दो बेटे है । सबसे बड़ी बेटी सोनी कुमारी की उम्र 15 वर्ष है । और सबसे छोटे बेटे विकास कुमार अभी 6 वर्ष का है। जिसको यह भी नहीं पता है कि उसकी दादी, मां और बहने क्यों रो रही है, लेकिन सबको रोते देख वह भी रो रहा है । बब्लू के मरने के बाद पांच बच्चों के पालन-पोषण की जिम्मेवारी पत्नी कुंती पर आ गई है । जो स्वयं अक्सर बीमार रहती है । उस पर तो मानो पहाड़ हीं टूट गई हैं । मृतक के पिता की मृत्यु पहले हीं हो चुकी हैं । अब इस परिवार का भरण पोषण कैसे होगा यह एक यक्ष प्रश्न बन गया है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!