Breaking News

लॉकडाउन के कारण लंबे समय से स्कूल और कॉलेज बंद रहने के कारण इस समय वह जलजमाव कचरे से भरा


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

लॉकडाउन के कारण लंबे समय से स्कूल और कॉलेज बंद रहने के कारण इस समय वह जलजमाव कचरे से भरा है। जबकि कुछ स्कूल कॉलेज में तो स्थानीय लोग पशु चारा भी लगा रखे हैं। 98 दिन बाद बीते सोमवार से खुले 10वी से ऊपर वाले स्कूल कॉलेजों में विद्यार्थियों को कई समस्याओं से गुजरना पड़ रहा है।

     तीसरे दिन भी स्कूल और कॉलेजों में विद्यार्थियों की संख्या न के बराबर रही। इक्का-दुक्का विद्यार्थी आए भी तो वह स्कूल कॉलेज की स्थिति देखकर ही लौट गए। प्रेमराज स्थित राम लखन सिंह अवध कॉलेज मैं तो कचरे से पटा था। यहां कॉलेज परिसर में स्थानीय लोग पशु चारे की खेती भी कर रखे हैं। कॉलेज परिसर में जनेरा लगा हुआ है। 

जिससे विद्यार्थियों को यहां भारी परेशानी हो रही है। ऐसे यह कॉलेज अभी विवादों में चल रहा है। यहां नामित अध्यक्ष और कॉलेज कर्मियों के बीच गुटबाजी के कारण पठन-पाठन ठप है। कॉलेज में कचरे को चीरते हुए कुछ विद्यार्थी पहुंचे पर यहां भवन में मकड़ियों की जाल, गंदगी के अलावा कर्मियों के बीच गुटबंदी देखकर ही बैरंग लौट गए। महुआ नगर परिषद के अधीन वैशाली उच्चतर विद्यालय तो डेढ़ महीने से जलजमाव कारण तालाब बना हुआ है। 

इसमें घुटने भर पानी हेलकर विद्यार्थियों को आने-जाने में दिक्कत हो रही है। वह हाथ में जूते चप्पल लेकर परिसर को पार कर कार्यालय तक पहुंचते हैं। यही स्थिति प्रोजेक्ट बालिका उच्चतर विद्यालय, अक्षयवट राय कॉलेज, निरसू नारायण कॉलेज सिंघाड़ा आदि में भी है। सरकार के निर्देशानुसार 50 फीसदी विद्यार्थियों को अल्टरनेट व्यवस्था कर कक्षा लेना है। जबकि स्थिति देखकर विद्यार्थी ही नहीं पहुंच रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!