Breaking News

समाज में राष्ट्रीय भाव जागृति एवं सक्रियता हेतु महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा एवं नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

 सहदेई बुजुर्ग/महनार - समाज में राष्ट्रीय भाव जागृति एवं सक्रियता हेतु महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।नारी में सृजन शक्ति है।उस सृजन से वह परिवार,समाज एवं देश का निर्माण करने में सक्षम है। 

सृजनात्मकता के साथ संरक्षण का अनूठा गुण उसमें विद्यमान है।मातृत्व भाव होने के कारण वह संस्कार एकात्मता के साथ बच्चों में संप्रेषित करती है।इसीलिए भारतीय परिवारों में मां की बहुत महत्ता है।यह बात अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ द्वारा 'नारी: भारतीय दृष्टि और भविष्य' विषय पर ऑनलाइन आयोजित पुस्तक विमोचन के अवसर पर राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका श्रीमती शान्तक्का ने कहा।उन्होंने कहा कि मां में सहजता का गुण है और दुर्गा रूप धारण कर दुराचार व दुरवृत्तियों का विनाश कर अधर्म व अन्याय के विरुद्ध खड़ा होने की शक्ति भी है।

कहा कि इस तरह की संदर्भ पुस्तकों को पाठ्यक्रम में जोड़कर नारी विमर्श को समाज के सामने लाना चाहिए।आज महिलाएं खेल,अनुशंधान एवं रक्षा आदि क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।केवल उसे प्रोत्साहन देने की जरूरत है।महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो०जे०पी०सिंघल ने कहा कि नारी की महिमा विलक्षण है।नारी का मातृत्व स्वरूप ही है जो अध्यापक से हजार गुना ज्यादा महत्व रखता है।हमारे भारतीय दर्शन और संस्कृति में नारी की महिमा अपरम्पार है।लेकिन वर्तमान में स्त्री शिक्षा का केंद्र पश्चिम है,जिसके प्रभाव के कारण उसमें दोष आ गया है।जब भारतीय सोच होगी तो पश्चात संस्कृति का प्रभाव धीरे-धीरे कम हो जाएगा।भारत की दृष्टि नारी शक्ति व सम्मान से जुड़ी हुई है और उसे जगाने की आवश्यकता है।

जिससे सामाजिक परिवर्तन संभव है।कार्यक्रम का संचालन डाॅ०गीता भट्ट ने एवं धन्यवाद ज्ञापन उपाध्यक्ष डाॅ० निर्मला यादव ने किया।कल्याण मंत्र का वचन ममता डी०के०ने किया।इस कार्यक्रम में महासंघ के महामंत्री शिवानंद शिंदनकेरा, संगठन मंत्री महेंद्र कपूर के साथ बिहार से राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश कुमार,प्रदेश महामंत्री पंकज कुमार,प्रदेश मीडिया प्रभारी ज्ञानेन्द्र नाथ सिंह आदि सहित देश के विभिन्न राज्यो से शिक्षक, पदाधिकारी एवं महिला कार्यकर्ता एवं गणमान्य लोग शामिल हुये।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!