Breaking News

विज्ञान शिक्षकों की ऑनलाइन उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न हुई


वैशाली जिला ब्यूरो संवाददाता प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

साइंस फॉर सोसायटी वैशाली इकाई के तत्वाधान से आज दिनांक 17 जुलाई 2021 को राज्य संपोषित कन्या उच्चतर विद्यालय हाजीपुर में विज्ञान शिक्षकों की ऑनलाइन उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न हुई.

अपने अध्यक्षीय भाषण में प्रोफेसर नवल किशोर शर्मा ने शिक्षकों में वैज्ञानिक चेतना एवं समावेशी शिक्षा पर बल देने हेतु उत्साहित किया कार्यक्रम को ऑनलाइन उद्बोधन करते हुए जिला कार्यक्रम पदाधिकारी विभा मैडम ने शिक्षकों के कार्य कौशल की भूरी भूरी प्रशंसा की श्रीमती सीमा सिंह जिला समन्वयक राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस ने सभी शिक्षकों का आभार प्रकट करते हुए राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस को भारत सरकार का एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम बताते हुए उन्होंने कहा की पर्यावरणीय मुद्दों से ग्रसित संसार को वैश्विक समझ और समाधान चाहिए हम सतत जीवन हेतु ऐसे ही कार्यक्रमों द्वारा पर्यावरणीय सुरक्षा दे सकते हैं.

 मुख्य विषय सतत जीवन हेतु विज्ञान के उप विषय पारितंत्र पर डॉक्टर सत्येंद्र कुमार ने विषय प्रवेश कराते हुए अपने व्याख्यान में पारितंत्र के कार्यों एवं सेवाओं से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों पर विस्तार से मॉडल परियोजनाओं को समझाया उन्होंने इस विषय को प्रासंगिक विषय बताया जीवन हेतु उपयुक्त प्रायोगिक की सामाजिक नवाचार जैसे विषयों पर वैज्ञानिक परियोजना बनाई जाए यही समय की मांग है अन्य गतिविधि निर्देश की जानकारी श्रीमती रूबी कुमारी भगवान शंकर उच्चतर विद्यालय लालगंज ने बताया वैज्ञानिक जागरूकता को बढ़ाना तथा बच्चों के बीच वैज्ञानिक तरीकों को समझाना यही हम शिक्षकों का उत्तरदायित्व है.

 हम शिक्षक वैज्ञानिक विधि की अवधारणा को इस परियोजना गतिविधि से बच्चों तक अवश्य ले जाएंगे सत्य जीवन हेतु विज्ञान यही हमारा लक्ष्य है विकास और मॉडलिंग तथा अभिकल्पना प्रोफेसर जीवेश ने विस्तार से व्याख्यान के रूप में परियोजना से संबंधित जानकारी अपने पीपीटी के माध्यम से शिक्षकों तक पहुंचाया सतत जीवन हेतु पारंपरिक ज्ञान प्रणाली की समझ विस्तार के लिए श्रीमती अर्चना ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया अतिथि शिक्षक के रूप में श्री अजीत कुमार ने संक्रामक बीमारियों के विशिष्ट संदर्भ कोविड-19 पर टिप्पणी की श्री विवेक ने अच्छी परियोजना की विधि पर अपनी पीपीटी दिखलाई अंत में रोशन झा ने जीवन जीवन के तरीकों में वैज्ञानिक समझ अपनाने पर बल देते हुए शिक्षकों एवं सभी प्रतिभागियों को साधुवाद समर्पित किया.

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!