Breaking News

महुआ नगर परिषद के सफाई कर्मियों की हड़ताल से बाजार गंदगी से बजबजा रहा है।


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

 दुकानदारों को तो दुकान पर बैठना मुश्किल हो रहा है। कचरे की बदबू से वह नाक पर रुमाल रखकर बैठते तो है पर ग्राहक आना नहीं चाहते। आने जाने वाले राहगीरों को भी फजीहत हो रही है।

बाजार वासियों ने कचरे के ढेर को दिखाते हुए बताया कि अब उसकी सड़ांध से रहना मुश्किल हो रहा है। बदबू के कारण तो उनके दुकान पर ग्राहक आना नहीं चाहते। चार दिनों में यहां गंदगी ऐसी हो गई है जिससे बाजार में नरक जैसी स्थिति बनी है। बाजार के हृदय स्थली कहा जाने वाला गांधी स्मारक चौक के आसपास गंदगी इस कदर फैली है कि हर लोग देखकर तौबा कर रहे हैं। यहां पातेपुर सड़क मोड़, बच्चन शर्मा स्मारक, थाना चौक, स्टैंड चौक, गोला रोड, पातेपुर रोड, जवाहर चौक, पुराना बाजार, भदई चौक, फूदेनी चौक आदि स्थानों पर कचरे की अंबार लगी है।

 दो दिनों में ही बाजार की स्थिति नारकीय हो गई है। बताया गया कि सफाई कर्मी मजदूरी की राशि बढ़ाने की मांग को लेकर हड़ताल पर हैं। इधर नगर परिषद द्वारा कचरे को हटाने की कोई दूसरी नहीं की गई है। इसके कारण महुआ नगर परिषद बाजार अभी कचरे के ढेर पर है। 

बाजार में पहुंचे पूर्व मुखिया शिवदानी मिश्रा तथा जयप्रकाश निषाद बरनाला ने बताया कि गंदगी से तो यहां ठहरना मुश्किल हो रहा है। बदबू के कारण संक्रमण की खतरा मंडरा रही है। संजीव कुमार, अमित कुमार, मनोज जायसवाल, सुमित सहगल, राजू प्रसाद, वरुण कुमार सिंह, नितेश कुमार आदि ने बताया कि यहां 2 दिनों में ही कचरे का अंबार हो गया है। कचरे किस सरांध से लोगों को ठहरना मुश्किल हो रहा है। इधर नगर परिषद के द्वारा बताया गया कि सफाई कर्मी दो दिवसीय हड़ताल पर थे। शुक्रवार को सफाई कर्मी काम पर लौटेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!