Breaking News

जसौली में बाघ देखने से लोगों में हड़कंप, खेतों में मचान पर सोये लोग जान बचाकर भागे


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

मैनाटांड़: भंगहा थाना क्षेत्र के जसौली गांव स्थित शीतला माई स्थान के समीप अमोल दास के खेत में रविवार की देर रात बाघ देखने से खेत के फसलों की रखवाली कर रहे लोगों में हड़कंप मच गया। खेतों में रखवाली कर रहे और अमोल दास के पुत्र वकील दास, महादेव दास, दुलाल दास, तपन दास आदि ने बताया कि हम लोग अपने खेतों के सब्जी को रखवारी करने के लिए रात में मचान पर थे। उसी दौरान करीब 11:00 बजे रात्री मे चहलकदमी करते हुए बाघ दिखाई दिया। जब उठकर देखा तो अमोल दास के खेत में बाघ घूम रहा है।

 हम सभी रखवार तुरंत हो हल्ला करने लगे हल्ला को सुन बाघ पीछे की तरफ भाग गया। तब हम लोग गांव में पहुंचे और ग्रामीणों की सूचना दी। मौके पर मुखिया सुधांशु दास, प्रदीप राय, उत्तम कुमार दास,बानी दास, सुखलाल दास सहित एक दर्जन ग्रामीण आग का लुकार व लाठी डंडा लेकर खेत की तरफ पहुंचे तो देखा कि वहां बाघ का कहीं अता पता नहीं है। बाघ को देख लोगों में हड़कंप का माहौल बना हुआ है। लोग अपने खेतों में लगे सब्जी की रखवाली करने के लिए भी खेतों में जाना मुनासिब नहीं समझ रहा हे है। 

विदित हो कि 12 फरवरी को सहोदरा थाना के सूर्यपुर परसौनी के सरेह में खेतों में फसलों की रखवाली करने के लिए मचान पर सोए पति-पत्नी अकलू महतो तथा रूखी देवी को बाघ ने मौत के घाट उतार दिया था। जिससे और लोगों में भय का माहौल व्याप्त है। इस संबंध में उपवन परिसर पदाधिकारी पूनटुन कुमार ने बताया कि जंगल से एक किलोमीटर बाहर बाघ विचरण कर सकता है। बाघ को ट्रैक किया जा रहा है। उसके सभी गतिविधि पर वन विभाग का नजर

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!