Breaking News

पत्रकारिता को बचाने के लिए संपादक की गाजियाबाद से लखनऊ तक पैदल यात्रा, जाजमऊ में हुआ जोरदार स्वागत।


कानपुर संवाददाता वाजिद खान की रिपोर्ट

कानपुर । उत्तर प्रदेश में पत्रकारों के खिलाफ हो रहे उत्पीड़न और देश मे सच्ची पत्रकारिता करने वालों के पक्ष में पत्रकार ने सरकार के तानाशाही रवैये को देखते हुए गाजियाबाद से लखनऊ तक कि पद यात्रा करने का फैसला किया है। इस फैसले को अमल में लाते हुए वरिष्ठ पत्रकार आशीष चित्रांशी (UC न्यूज संपादक) ने पत्रकारों की आवाज़ को बुलंद करते हुए आज गजीपुर बॉर्डर (गाजियाबाद) से लखनऊ तक की पदयात्रा का शुभारंभ कर दिया है। उनका कहना है कि पत्रकारिता जनसरोकारी होनी चाहिए न कि सरकारी पत्रकार ये एक व्यक्ति नही बल्कि विचार है। पद यात्रा की शुरुआत के दौरान पिछले 8 महीने से गाजीपुर बॉर्डर पर डटे किसानों ने इस यात्रा के सफल होने के साथ ही हरी झंडी दिखाते हुए सभी मौजूद लोगों को लखनऊ के लिए रवाना किया।

लोग मिलते गए कारवां बनता गया

जैसे ही पत्रकार आशीष चित्रांशी की पदयात्रा की खबर मीडिया और सोशल मीडिया पर फैली तमाम पत्रकार बंधु उनके समर्थन में आ गए जिससे जितना हो सका उनसे उतना पैदल चलकर उनके साहस को बढ़ाता, जगह- जगह लोगों द्वारा आशीष चित्रांशी जी का स्वागत सत्कार किया गया किसी ने उन्हें माला पहनाई तो कोई फूलों का गुलदस्ता लेकर उनके स्वागत के लिए खड़े रहे।

पदयात्रा का क्या है उद्देश्य

आशीष चित्रांशी जी का कहना है कि जिस तरह से देश मे पत्रकारिता का दमन हो रहा है, पत्रकार अपराधी की या तो गोली का शिकार हो रहा है या फिर उसे सिस्टम के आगे नतमस्तक होने के लिए जबरन प्रताड़ित किया जा रहा है इन परिस्थितियों को अगर बदला नहीं गया तो आने वाले समय मे पत्रकारिता नाम की कोई चीज नहीं रह जाएगी इसलिए आज जरूरी है कि जर्नलिस्ट प्रोटेक्शन एक्ट को लाया जाए। उन्होंने आगे कहा कि कानून की मांग को लेकर जो पदयात्रा निकली जा रही है उसका सभी पत्रकार भाई समर्थन करे और इस आवाज को सरकार तक पहुचने में मदद करें।

पदयात्रा इन जिलों से होकर 

गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा ,सिकंदराबाद ,बुलंदशहर ,अलीगढ़, हाथरस ,आगरा ,फिरोजाबाद ,शिकोहाबाद ,सैफई ,इटावा ,औरैया ,

कानपुर देहात से पदयात्रा इन जिलों से गुजरते हुए कानपुर नगर पहुंची है आज जाजमऊ में चुंगी पर पत्रकार साथियों द्वारा स्वागत सम्मान किया गया सभी पत्रकार साथियों ने उनके साथ जाजमऊ गंगा से उन्नाव सीमा मैं प्रवेश किया उन्नाव की धरती पर कदम रखते ही सैकड़ों की तादात में पत्रकार साथियों ने फूल मालाओं से उनका जोरदार स्वागत किया उसके बाद उन्नाव से लखनऊ के लिए रवाना हो गए उनके साथ पद यात्रा में मुख्य रूप से उर्दू प्रेस क्लब अध्यक्ष अनवार हुसैन डॉक्टर मोहम्मद इरशाद संपादक मोहित श्रीवास्तव मेराज अहमद शाह पत्रकार सुशिल सुक्ला पत्रकार रिषभ आदि लोग उपस्थित थे।

संवादाता वाजिद खान की रिपोर्ट

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!