Breaking News

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष से, हॉट मिक्स प्लांट पर होगी कार्रवाई-अध्यक्ष


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा एवं अभिनव कुमार की रिपोर्ट 

वैशाली जिला के देसरी प्रखंड स्थित राजकीय मध्य विद्यालय गाजीपुर के निकट सड़क निर्माण हॉट मिक्स प्लांट से उत्पन्न प्रदूषण को लेकर ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष डॉ अशोक कुमार घोष से मिला। 

प्रतिनिधिमंडल में शामिल पूजन कुमार, एआईएसएफ के राज्यमंत्री रंजीत पंडित, पूर्व मुखिया कमलदेव सिंह, समाजसेवी राजीव पटेल उर्फ पप्पू सिंह एवं सुधा देवी ने अध्यक्ष बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को आवेदन देते हुए कहा कि विद्यालय के ठीक सटे प्लांट से उत्पन्न प्रदूषण से छात्रों के अलावे शिक्षक एवं ग्रामीण काफी प्रभावित है। इस प्रदूषण से राहगीरों को भी कठिनाई होती है।

इस मसले की गंभीरता को लेते हुए अध्यक्ष, बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि वैशाली में दो हॉट मिक्स प्लांट को बंद कराया गया है। जिसके बाद प्रतिनिधिमंडल ने देसरी प्रखंड के गाजीपुर में विद्यालय से सटे संचालित हॉट मिक्स प्लांट से उत्पन्न समस्या को विस्तार से बताया, जिसके बाद बोर्ड के अध्यक्ष ने क्षेत्रीय पदाधिकारी अनिल कुमार को अपने कार्यालय में बुलवाया और हॉट मिक्स प्लांट संचालन के बारे में पूछा क्षेत्रीय पदाधिकारी अनिल कुमार ने कहा कि इस प्लांट का निरीक्षण किया गया है, जिसमें छात्रों एवं ग्रामीणों की शिकायत को सही पाया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि इस प्लांट के ठीक सटे सरकारी विद्यालय अवस्थित है।

जिसके बाद प्रतिनिमण्डल में शामिल एआईएसएफ के राज्य सचिव रंजीत पंडित ने बोर्ड के अध्यक्ष को इस बात जानकारी दी कि बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इस प्लांट को जल एवं वायु प्रदूषण निवारण एवं नियंत्रण अधिनियम के प्रावधानों के तहत प्रपोज डायरेक्शन फॉर क्लोजर निर्गत करने की बातें आरटीआई के एक जवाब में ग्रामीण पूजन कुमार को बताया है। लेकिन डायरेक्शन फॉर क्लोजर अभी तक जारी नही किया गया है। बोर्ड के अध्यक्ष डॉ अशोक कुमार घोष ने क्षेत्रीय पदाधिकारी अनिल कुमार को उसी दिन हॉट मिक्स प्लांट के नाम डायरेक्शन फॉर क्लोजर जारी करने का निर्देश दिया।

प्रतिनिधिमंडल में शामिल पंचायत के पूर्व मुखिया कमल देव सिंह एवं समाजसेवी राजीव पटेल उर्फ पप्पू सिंह ने बोर्ड के अध्यक्ष को बताया कि ग्रामीणों ने अपने बच्चों के जीवन एवं स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए विद्यालय भेजना बंद कर दिया है। मधुकलश देवी ने इस प्रदूषण से घरेलू महिला के समस्याओं से अवगत कराया, वही पूजन कुमार ने बताया कि स्कूल से ठीक सटे प्रदूषण फैलाने वाले इस प्लांट के कारण शिक्षा के अधिकार के कानून का भी उल्लंघन हो रहा है।

पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज कुमार बबलू से दो सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भाजयुओ देसरी के ओमप्रकाश पटेल एवं ग्रामीण कमलेश सिंह ने मुलाकात कर प्रदूषण पर रोक लगाने का मांग किया। मंत्री ने उचित कार्रवाई का आश्वासन देते हुए पत्र को बिहार राज्य प्रदूषण बोर्ड को भेजा है।

अध्यक्ष, बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल के अलावे ग्रामीण मो. अली अंसारी, अंकित कुमार, पूनम देवी, छात्र नेता मोहित पासवान, पवन कुमार भी बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड गए थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!