Breaking News

बिदुपुर में जहरीली शराब पीने से 2 लोगों की मौत अन्य घायल।


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा एवं अभिनव कुमार की रिपोर्ट

बिदुपुर थाना के दाउदनगर में जहरीली शराब पीने से दो युवकों की मौत की सूचना के बाद हड़कंप मच गया। आनन-फानन में बिदुपुर थाना पुलिस और एसडीपीओ गांव में पहुंचे और मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस और मृत युवकों के परिजन पूरे मामले में युवकों की मौत का कारण जहां बीमारी बता रहे हैं। वहीं कुछ लोग दबी जुबान में जहरीली शराब पीने से दो युवकों की मौत और एक के गंभीर रूप से बीमार होने की बात बता रहे हैं। 

जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि गुरुवार दोपहर दो युवकों की मौत के बाद उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इलाके में चर्चा फैल गई की युवकों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। पुलिस को जब इसकी सूचना मिली तो वह गांव पहुंची और मामले की छानबीन की। बिदुपुर थानाध्यक्ष धनंजय पांडेय के नेतृत्व में पुलिस टीम गुरुवार को को दाउदगनगर गांव में पहुंची और मृत युवकों के परिजनों का बयान लिया। बताया कि गांव के जिन युवकों की मौत की बात बताई जा रही है, उनके परिजनों से बात की गई और पुलिस ने उनका बयान दर्ज किया है। 

परिवार के लोगों ने बताया कि अचानक इनके सीने में दर्द का अहसास हुआ, सांस लेने में तकलीफ के बाद इनकी मौत हो गई। दोनों युवकों के परिजनों ने इनकी मौत का कारण बीमारी बताया है। एसडीपीओ ने कहा कि परिजनों ने बताया कि सीने में दर्द हुआ और उनकी मौत हो गई। इस संबंध में बीडीओ प्रशांत कुमार ने कहा कि जहरीली शराब से मौत की सूचना नहीं है। वहीं सीओ रविराज ने कहा कि जहरीली शराब पीने की पुष्टि अभी पुलिस ने नहीं की है। यदि जहरीली शराब पीने से मौत की पुष्टि होती है तो आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

वहीं सूत्र बताते हैं कि दाऊद नगर मतखनमा से उत्तर चौर के पुलिया के पास मंगलवार की रात को ही राजापाकर इलाके से कुछ लोगों ने शराब मंगवाई और शराब-कबाब का दौर चला। इस पार्टी में एक राजापाकर और दो महुआ के युवक भी शमिल थे। इसके बाद बुधवार की दोपहर में संजीव कुमार पिता एन चौधरी की तबियत बिगड़ी, जिसको लेकर पहले स्थानीय ग्रामीणों ने डॉक्टर से उनका इलाज करवाया, लेकिन बाद में इसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां स्थिति गंभीर देखकर इसे पटना रेफर किया गया।

 लेकिन परिजनों ने जौहरी बाजार स्थित नर्सिंग होम में इसे भर्ती करवाया, लेकिन यहां भी नर्सिंग होम से गुरुवार की सुबह रेफर किया गया और इसके कुछ मिनट के बाद मौत हो गई। प्रवीण कुमार उर्फ बमबम, पिता हरेंद्र चौधरी का बुधवार को अपराह्न तक ठीक रहा, लेकिन चार बजे शाम स्नान करने के बाद उसकी तबियत खराब हो गई। परिजन उन्हें लेकर हाजीपुर इलाज के लिए ले आए, जहां बुधवार की लगभग 12 बजे रात को उसकी मौत हो गई। तीसरे युवक की हालत खराब हुई, जिसका किसी निजी क्लिनिक में इलाज किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!