Breaking News

डीएम ने किया जन साक्षात्कार में कई मामलों का निष्पादन


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

हाजीपुर(वैशाली)जिलाधिकारी उदिता सिंह ने अपने कार्यालय कक्ष में वरीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में आम लोगों से जन साक्षात्कार कार्यक्रम के तहत जन शिकायतों का निष्पादन किया। जिला जन शिकायत कोषांग के आयोजित कार्यक्रम में कुल 41 आवेदन प्राप्त हुए। अधिकांश मामले मजदूरी नहीं देने और भूमि-विवाद से संबंधित थे। जिलाधिकारी ने सभी की बारी-बारी से सुनवाई करते हुए आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित पदाधिकारी को भेजने का निदेश दिया। शहर के तंगौल पुरानी गंडक पुल घाट निवासी गौरीशंकर साह ने बताया कि वह गुदरी बाजार के एक किराना दुकान में 20 वर्षो तक कार्य किया था, लेकिन दुकानदार ने मजदूरी नही दी। इसको लेकर श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी हाजीपुर के पास गए। उन्होंने 9,94,262 रुपये मजदूरी भुगतान का आदेश दिया, लेकिन आज तक मजदूरी नहीं मिली। जिलाधिकारी ने श्रम अधीक्षक को आवश्यक कार्रवाई के लिए भेजा है। वहीं गोरौल के वैद्यनाथ सिंह ने जमीन विवाद संबंधी आवेदन दिया, जिसे डीसीएलआर महुआ को जांचकर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।

इस दौरान गुमटी राजापाकर के अरुण कुमार चौधरी ने कहा कि उनकी जमीन की बिक्री नजायज ढ़ंग से करने के साथ उनके साथ मारपीट और जान मारने की धमकी दी जा रही हैं। उनके आवेदन एसपी के पास जरूरी कार्रवाई करने के लिए हस्तांतरित कर दिया गया। रामचौरा हाजीपुर की नीलम सिंह ने बताया कि उनके पति की मृत्यु कोविड के कारण हुई थी, परंतु मुआवजा के लिए उनका नाम नहीं भेजा गया है। इस पर जिलाधिकरी ने आवदेन पर सिविल सर्जन को जरूरी जांचकर अग्रेतर कार्रवाई के लिए निदेश दिया है।

हाजीपुर सदर के अरड़ा धरहरा निवासी रामवृक्ष महतो ने अपनी गरीबी का हवाला देते हुए कहा कि उन्हें हार्ट सर्जरी की जरूरत है। उनके पास पैसा नही है, अगर सरकारी अनुदान मिल जाता तो सर्जरी हो जाती। डीएम ने उनके आवेदन को डीपीएम स्वास्थ्य को जरूरी कदम उठाने के लिए अग्रसारित कर दिया। जन साक्षात्कार में उप विकास आयुक्त विजय प्रकाश मीणा भी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!