Breaking News

नेपाल से ब्याह कर लायीं बहु लड़ सकेगी चुनाव, आरक्षण के लाभ से रहना पड़ेगा वंचित


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

 मैनाटांड़: अब नेपाल की बेटी भी चुनाव लड़ सकेगी। हालांकि उन्हें आरक्षण के लाभ से वंचित रहना पड़ेगा।इस संबंध में बीडीओ पंकज कुमार ने बताया कि इस संबंध में राज्य निर्वाचन आयोग और जिला पंचायतीराज पदाधिकारी से मार्गदर्शन मिल चुका है ‌।मिले मार्गदर्शन में बताया गया है कि किसी भी महिला की जाति का निर्धारण उसके पिता की जाति से होता है ना कि पति के जाति से। उक्त परिपेक्ष्य में आयोग के द्वारा सम्यक विचारोपरांत निर्देश दिये गये हैं कि विवाहित महिला, जिनके पिता का घर नेपाल में है।और वह महिला भारत में नागरिकता ग्रहण कर ली है।ऐसी परिस्थिति में नेपाल देश से निर्गत जाति प्रमाण पत्र के आधार पर महिला पंचायत निर्वाचन में चुनाव लड़ने हेतु आरक्षण का दावा नहीं कर सकती हैं। बीडीओ श्री कुमार ने बताया कि इस आशय के पत्र को लागू करने के लिए संबंधित कर्मियों को निर्देश दिया गया है कि इस संबंध में लोगों को जागरुक करें। उल्लेखनीय है कि प्रखंड में सातवें चरण में चुनाव निश्चित हुआ है। 15 नवंबर के मतदान को लेकर 18 अक्टूबर को प्रपत्र पांच में सूचना का प्रकाशन किया जायेगा। वहीं 19 से 25 अक्टूबर तक नामांकन होगा।जबकि 28 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी।तीस अक्टूबर तक नाम वापस लिये जायेंगे।और उसी दिन चुनाव चिन्ह भी आवंटित किये जायेंगे।जबकि 17 और 18 नवंबर को मतगणना कराये जायेंगे। प्रखंड के गांवों में सरकार बनाने को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है। प्रखंड प्रशासन के द्वारा भी आवश्यक तैयारी शुरू कर दी गई है। जबकि गांव के गली मुहल्लों, खेत की पगडंडियों,चौक चौराहों, बजारों में राजनीतिक चर्चाओं का दौर तेज हो गया है ‌संभावित प्रत्याशी जनता जनार्दन के दरवाजे पहुंचने लगे

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!