Breaking News

पारदर्शी और स्वच्छ काउंसिलिंग कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता : डीएम।

 


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

 जमुई दिनांक 2अगस्त 2021 बिहार पंचायत प्रारंभिक शिक्षक (नियोजन एवं सेवा शर्त) नियमावली 2012 एवं बिहार नगर प्रारंभिक शिक्षक (नियोजन एवं सेवा शर्त) नियमावली 2012 में निहित प्रावधानों के आलोक में नियोजन इकाइयों के द्वारा की जा रही नियुक्ति की कार्रवाई के क्रम में नियोजन की प्रक्रिया को पारदर्शिता के साथ शीघ्र पूरा कराने के लिए जिला पदाधिकारी जमुई अवनीश कुमार सिंह भा०प्र०से० के निर्देश के आलोक में जमुई जिले में वर्ग 01 से 05 एवं वर्ग 6 से वर्ग 8 तक के शिक्षक अभ्यर्थियों के नियोजन हेतु काउन्सलिंग की प्रक्रिया दिनांक 4.8.2021 से 13.08.2021 तक संपन्न की जानी है। जिलाधिकारी महोदय के निर्देशानुसार काउंसलिंग/ नियोजन प्रक्रिया स्थल पर विधि व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के दृष्टिकोण से दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी सहित प्रखंडों के वरीय पदाधिकारियों को भी काउंसलिंग स्थल पर प्रतिनियुक्ति किया गया है।

    जिला मुख्यालय के प्रखंड संसाधन केंद्र जमुई, राज्य संपोषित बालिका उच्च विद्यालय जमुई, प्लस टू उच्च विद्यालय जमुई, राजकीय कन्या मध्य विद्यालय जमुई, राजकीय बुनियादी विद्यालय जमुई, आदर्श पीडी मध्य विद्यालय जमुई, रामकृष्ण उच्च विद्यालय जमुई, ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल जमुई सहित खैरा के प्रखंड संसाधन केंद्र खैरा, सिकंदरा के प्रखंड प्लस टू श्री कृष्ण विद्यालय सिकंदरा, प्लस टू राज्य संपोषित उच्च विद्यालय सोनो, प्लस टू श्री कृष्ण विद्या मंदिर चकाई में काउंसलिंग स्थल केंद्र बनाए गए हैं।

        जिलाधिकारी महोदय द्वारा बताया गया कि कान्सीलिंग स्थल पर नियोजन इकाई बार वीडियोग्राफी की व्यवस्था कराने हेतु जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है। इसके अतिरिक्त संपूर्ण परिसर की गतिविधि का लाइव टेलीकास्ट किए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किए गए हैं। 

     जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किए जाने हेतु प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी एवं संबंधित पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

     उन्होंने बताया कि सभी नियोजन इकाई में काउंसलिंग का आयोजन पूर्वाहन 11:30 बजे से अपराहन 4:30 बजे तक किया जाएगा एवं अपराहन 6:00 बजे तक चयनित अभ्यर्थियों का नाम प्रकाशित किया जाएगा।

   जिला पदाधिकारी महोदय ने बताया कि अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों तथा अंक पत्रों का शिक्षा विभाग के पदाधिकारी तथा कर्मी वेब पोर्टल पर अपलोड कराएंगे ताकि इसका सत्यापन कराया जा सके। काउंसलिंग प्रक्रिया में यदि कोई अभ्यर्थी अपना दावा वापस लेना चाहते हो तो वह स्वघोषणा पत्र के आधार पर ले सकते हैं। 

   जिला पदाधिकारी महोदय ने बताया कि नियुक्ति से संबंधित मूल प्रमाण पत्र, मैट्रिक का अंक एवं प्रमाण पत्र, इंटर का अंक एवं प्रमाण पत्र, स्नातक का अंक एवं प्रमाण पत्र, शिक्षक प्रशिक्षण का अंक एवं प्रमाण पत्र, टीईटी उतीर्णता प्रमाण पत्र, आरक्षित कोटि के अभ्यर्थियों के लिए जाति प्रमाण पत्र, आवासीय प्रमाण पत्र, पिछड़ी व अति पिछड़ा वर्ग के लिए आय प्रमाण पत्र, स्वतंत्रता सेनानी के उत्तराधिकारी होने का प्रमाण पत्र, दिव्यांगता प्रमाण पत्र इत्यादि मूल प्रमाण पत्र काउंसलिंग प्रक्रिया में शामिल होने के लिए आवश्यक है।

    जिला अंतर्गत सभी काउंसलिंग स्थलों पर विधि व्यवस्था एवं शांति बनाए रखने हेतु पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी सहित पुलिस वालों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

  

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!