Breaking News

राष्ट्रीय लोक अदालत की तैयारी जारी, रजामंदी से होगा वादों का निपटारा: डीजे।


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष अशोक कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में व्यवहार न्यायालय परिसर में स्थित न्याय सदन के प्रशाल में विभिन्न बैंकों के अधिकारियों की अहम बैठक आहूत की गई , जिसमें अगामी 11 सितंबर को निर्धारित राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने का निर्णय लिया गया। 

जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री गुप्ता ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि त्वरित एवं पारदर्शी न्याय के लिए पक्षकार राष्ट्रीय लोक अदालत में आएं और रजामंदी से वादों का निपटारा कराने के बाद तनावमुक्त जीवनयापन करें। उन्होंने बैंक अधिकारियों को लचीला रुख अख्तियार कर अधिक से अधिक ऋण मामलों का निष्पादन कराए जाने का संदेश दिया।

   विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव सह सब जज शशिभूषण कुमार ने कहा कि अगामी 11 सितंबर को व्यवहार न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि इस अदालत के जरिये बैंक, बीमा, वन, बिजली, खनन, उत्पाद, श्रम, दूरभाष, पारिवारिक विवाद समेत अन्य सुलहनीय वादों की सुनवाई की जाएगी और त्वरित न्याय दिया जाएगा।  श्री कुमार ने आगे कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन लंबित मामलों के त्वरित निस्तारण के लिए किया जाता है। उन्होंने पक्षकारों से अपील करते हुए कहा कि वे 11 सितंबर को जमुई आकर सम्बंधित अदालत में भाग लें और लंबित मामलों का निपटारा राजीनामा के आधार पर कराकर तनावमुक्त जीवन जिएं।

    एडीजे द्वितीय राकेश कुमार, एलडीएम मिथलेश कुमार, संजीव कुमार, प्रणव कुमार, विश्वनाथ प्रसाद, अरविंद कुमार, विवेक कुमार बरनवाल, मनीष कुमार बादल, राजेंद्र कुमार लाल, हेमंत कुमार, अभिषेक कुमार, अरुण कुमार सिंहा आदि बैंक अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया और राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने का संकल्प व्यक्त किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!