Breaking News

दो युवकों ने उतारा नजीर पुत्र रफी को मौत के घाट


उन्नाव जिला ब्यूरो अवधेश कुमार की रिपोर्ट

अभी हाल में बांगरमऊ पुलिस द्वारा की बर्बरता पिटाई से फैसल सब्जी वाले की मौत का मामला ठंडा भी नहीं हुआ था लीजिए बांगरमऊ पुलिस द्वारा जबरदस्ती समझौते का दबाव न करने पर नजीर के पुत्र रफी को दो मऊ के युवकों ने उतारा युवक को मौत के घाट।

परिजनों का आरोप मऊ के निवासी तोहिद आरिफ द्वारा मेरे पुत्र को टक्कर मारने के बाद समझौता न करने पर इस काम को अंजाम दिया गया।

उत्तर प्रदेश उन्नाव जिले की मित्र पुलिस पर लगातार आरोप लग रहे हैं लेकिन बांगरमऊ की मित्र पुलिस सुधरने का नाम नहीं ले रही है।

पेड़ से बंधा मिला बेहोश युवक

बांगरमऊ। पिता के चाय के होटल में जाने के लिए सोमवार सुबह निकला युवक बेहोशी हालत में यूकेलिप्टस के पेड़ से बंधा मिला। बेल्ट का ढीला फंदा उसके गले में पड़ा था। गुस्साए परिजनों ने लखनऊ मार्ग पर जाम लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने कार्रवाई का भरोसा देकर सभी को हटा दिया।

सरोजनीनगर निवासी नाजिर हुसैन की लखनऊ मार्ग के किनारे वाहन अड्डा के पास चाय व समोसे की दुकान है। सोमवार सुबह नाजिर का 18 वर्षीय बेटा रफी अहमद घर से पिता की दुकान जाने के लिए निकला। काफी देर बात तक उसके दुकान न पहुंचने पर खोजबीन शुरू हुई। दोपहर दो बजे रेलवे क्रासिंग के पास झाड़ियों में यूकेलिप्टस के पेड़ से रफी अहमद बेहोशी हालत में बंधा मिला। पुलिस ने बेहोशी की हालत में रफी अहमद को सीएचसी में भर्ती कराया। वहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। घटना से गुस्साए रफी के परिजनों ने लखनऊ-बांगरमऊ मार्ग पर जाम लगाने की कोशिश की। कोतवाल मुकुल प्रकाश वर्मा ने बताया कि रफी के शरीर में कोई चोट का निशान नहीं मिला है। गले का फंदा भी ढीला था। सीओ आशुतोष कुमार ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

बेहोशी हालत में पेड़ से बंधे मिले युवक के पिता ने बताया कि शनिवार को उसके बेटे रफी ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि देर शाम पैदल घर जाते समय ग्राम मऊ निवासी दो युवकों की बाइक से उसे टक्कर लग गई थी। उसके उलाहना देने पर दोनों ने झगड़ा किया था। रफी के पिता ने इन्हीं दोनों युवकों पर बेटे से ज्यादती करने का शक जताया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!