Breaking News

मेरे सपने अपने लिये नहीं,विद्यालय और छात्रों के मंगल लिये हैं : डा० सुशील

  • ग्रामीण प्रतिभा प्रतियोगिता परीक्षा में दिखी छात्रों के ज्ञान की उडान
  • प्रतियोगिता से निखरती है छात्रों के अंदर छिपी प्रतिभा: पवन
  • पहली बार मनायी गयी विद्यालय के संस्थापक की पुण्यतिथि


दरौली(सीवान)।
ब्रह्मर्षि देवराहा बाबा उच्च विद्यालय सह इंटर कॉलेज पचबेनिया के संस्थापक ब्रह्मलीन प्रेमानंद गिरि जी महाराज उर्फ पयाहारी बाबा की पुण्यतिथि पहली बार मनायी गयी।विद्यालय के प्राचार्य डा०सुशील नारायण तिवारी ने उनकी आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा विद्यालय के मंगल के लिये आशीर्वाद लिया।डा०तिवारी के साथ पूर्व शिक्षक श्री नागेन्द्र नाथ पाण्डेय जी, श्री रवीन्द्र भारती जी, जितेन्द्र पाण्डेय जी ,श्री अनिल सिंह जी एवं के महान् कर्मयोगी श्री रामू प्रसाद जी ने माल्यार्पण कर आशीर्वाद लिया।


पयाहारी बाबा के 25 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर ग्रामीण प्रतिभा खोज प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन किया गया, जिसमें 125 छात्र, छात्राओं ने भाग लिया।प्रतियोगिता के उपरांत प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें प्रतियोगिता के माध्यम से टैलेंट-30 के लिए चुने गए सभी छात्र/छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्राचार्य डा०सुशील नारायण तिवारी ने कहा कि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जो व्यक्ति को सफलता के शिखर पर पहुंचा सकता है।

अपने विद्यालय के छात्र/छात्राओं के बेहतर प्रदर्शन से प्रभावित प्राचार्य ने कहा कि आप सभी अपने प्रतिभा से एक नयी इबारत लिखिये हम आपके साथ है।प्राचार्य डा० सुशील ने छात्र,छात्राओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि वे लोग कमजोर होते हैं, जो लोकमङ्गलकारी सपने नहीं देखते है और स्थिति को भयावह बनाते हैं।मैं तो मुसीबतों को धन्यवाद देना चाहता हूँ, क्योंकि मेरे सपने अपने लिये नहीं अपितु विद्यालय, विद्यार्थी, समाज के कल्याण के लिए एवं राष्ट्र के मंगल के लिए है।


प्रतियोगिता परीक्षा को सफल बनाने में अपनी अहम भूमिका निभानेवाले पवन दूबे ने कहा कि छात्र-छात्राओं में प्रतिभा की कमी नहीं है, जरुरत सही दिशा देने की।यह प्रतियोगिता छात्रों को एक नयी दिशा देगी।कार्यक्रम की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए श्री दूबे ने कहा कि प्रतियोगिता से छात्रों के अंदर छिपी प्रतिभा निखरती हैं।प्रतियोगिता में प्रथम स्थान निपू कुमारी, द्वितीय स्थान अनिशा कुमारी तथा तृतीय स्थान मनजी दूबे ने प्राप्त किया।सभी छात्र-छात्राओं को काँपी, पेन देकर विद्यालय के प्राचार्य डा०सुशील नारायण तिवारी ने सम्मानित किया।

            इस अवसर पर रामू प्रसाद, पवन कुमार दूबे, राकेश कुमार यादव, नीरज कुमार पाण्डेय सहित दर्जनों गणमान्य उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!