Breaking News

तदर्थ प्रधानाचार्य के विनियमितीकरण के लिए प्रदेश अध्यक्ष भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ एवं एमएलसी श्री चंद्र शर्मा को ज्ञापन दिया गया

 


उन्नाव से जिला ब्यूरो चीफ अवधेश कुमार की रिपोर्ट

राज्य के अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों में कई वर्षों से सबसे वरिष्ठ शिक्षक प्रधानाचार्य के पद पर तदर्थ रूप से कार्य कर रहे हैं। उन्हें वेतन सहित अन्य लाभ प्रधानाचार्य पद के प्राप्त हो रहे हैं परंतु उनके ऊपर हमेशा चयन बोर्ड से चयनित अभ्यर्थियों के आने का दबाव रहता है जिससे विद्यालय की शैक्षिक एवं प्रशासनिक गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना बनी रहती है। 

चयन बोर्ड में भी इन प्रधानाचार्य को विद्यालय के सबसे वरिष्ठ होने के नाते बुलाया जाता है यदि इनका वर विनियमितीकरण किया जाता है तो सरकार को इन प्रधानाचार्य के अनुभव का पूरा लाभ प्राप्त होगा तथा सरकार पर कोई वित्तीय भार भी नहीं बढ़ेगा इस बात को पूरे प्रदेश में भाजपा के जिलाध्यक्ष एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा माननीय मुख्यमंत्री जी एवं माननीय शिक्षा मंत्री जी को प्रेषित किया जा रहा है इसी क्रम में मेरठ खंड शिक्षा क्षेत्र के एमएलसी एवं भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्री चंद शर्मा जी को ज्ञापन प्रस्तुत किया गया जिसमें उन्होंने आश्वासन दिया कि वह इस संबंध में माननीय मुख्यमंत्री जी एवं माननीय शिक्षा मंत्री जी से बात करेंगे।

 प्रधानाचार्यों के विनियमितीकरण संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमंडल में लखनऊ जनपद से श्री अनिल कुमार वर्मा श्री अजीत कुमार सिंह डॉक्टर आरके सिंह श्री साकेत सौरभ सिंह श्री अवधेश कुमार मिश्रा बरेली जनपद से श्री महेंद्र कुमार गंगवार श्री मेहरबान सिंह उन्नाव जनपद से श्री दारा सिंह श्री प्रशांत पाल श्री वीरेंद्र कुमार श्री दिनेश कुमार गुप्ता हरदोई जनपद से श्री नरेश कुमार श्री प्रेम कुमार श्री सूर्यभान उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!