Breaking News

बांस की चाचरी बनाकर लोग जान से खेलकर करते हैं आवागमन


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

महुआ प्रखंड की कन्हौली धनराज पंचायत अंतर्गत बिशनपुरा गांव की पीसीसी सड़क पानी की तेज धार में बह गई। सड़क बह जाने से उस पर लोग बांस की चचरी बनाकर आ जा रहे हैं जो खतरे से खाली नहीं है। अब कोई वाहन गांव में नहीं पहुंच रही है। जिससे ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

ग्रामीणों ने सड़क की दुर्दशा को दिखाते हुए बताया कि अब तो उनके सामने विकट परिस्थिति खड़ी है। घागरा नहर की तेज धार में सड़क बह गई। यही एकमात्र सड़क है जो लोग उससे गांव आते हैं। लोगों का कहना है कि सड़क बह जाने से उस पर बांस की चचरी बना कर रख दिया गया है। उस से पैदल लोग आर पार कर तो जाते हैं लेकिन बाइक और साइकिल को निकालने में दिक्कत होती है। लोगों ने यह भी बताया कि यहां चचरी से जाना खतरे से भी खाली नहीं है। इस समय गांव में गंभीर रूप से बीमार होने पर उन्हें अस्पताल ले जाना मुश्किल भरा है। ना तो कोई एंबुलेंस आती है ना ही कोई अन्य वाहन। रिक्शा ठेला भी पहुंचना मुश्किल है। यहां घागरा नहर कि पानी से सड़क की तो अस्तित्व समाप्त हो गई है। वही विभिन्न जगह पर सड़क से पानी का बहाव भी हो रहा है। 

मालूम हो कि घाघरा नहर के बाढ में बिशनपुरा, महादेव मठ, डुमरी, दोहरी, असकरणपुर, कन्हौली धनराज, पानापुर, कड़ियों, ताजपुर बुजुर्ग आदि दर्जनों गांव डूबा हुआ है। इस समय लोग बाढ़ में घिरे हैं और परेशानियों का सामना कर रहे हैं। समाजसेवी पशु चिकित्सक राज किशोर राय, रविंद्र कुमार, चंदन पासवान, पंकज आदि ने बताया कि सड़क को बाढ की तेज धार में बह जाने के कारण ग्रामीणों को भारी दिक्कत हो रही है। इस समय इमरजेंसी पड़ने पर न तो कोई वाहन पहुंचते हैं ना ही एंबुलेंस। लोगों ने बताया कि गांव में आने के लिए एकमात्र सड़क पर बांस के चचरी रखकर पैदल लोग आते जाते है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!