Breaking News

प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों तक दौड़ लगा कर थक चुके ग्रामीणों ने बांस की पुलिया का किया निर्माण


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

लोगों द्वारा बांस के चचरी बनाकर उस पर आवागमन शुरू किया गया। अब यह चचरी बन जाने से लोगों को 5 किलोमीटर अतिरिक्त दूरी का परिक्रमा करने पर विराम लग गया है।

महुआ प्रखंड की कन्हौली धनराज पंचायत अंतर्गत धनराज गांव में पानी की धार में बहे सड़क पर चरी का निर्माण कर बड़ा योगदान दिया है। यहां पानी की धार में बहे ग्रामीण सड़क से आवागमन बंद हो गया था। इससे गांव के लोगों को बाजार आने जाने के लिए 5 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करना पड़ता था।

 हालांकि ग्रामीणों ने टूटे सड़क को ह्यूम पाइप लगाकर आवागमन चालू करने की मांग को लेकर प्रशासनिक अधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधियों तक दौड़ लगाई थी। यहां तक कि सीओ अमर सिन्हा पहुंचकर पानी में बह चुके सड़क जर्जर स्थिति को देखा था। पानी के बहाव से 20 फीट दूरी तक सड़क टूट कर अस्तित्व विहीन हो चुका था। जहां पानी की तेज धारा बढ़ रही थी। 

उस पर ग्रामीणों ने बिजली का पोल, बांस, खंभे रखकर बरहाल चचरी बना कर आवागमन शुरू कर दिया है। यहां राकेश कुमार सिंह, सुरेंद्र सिंह, मिथिलेश कुमार सिंह, अनिल कुमार, अरविंद कुमार, प्रमोद आदि दर्जनों लोगों ने बताया कि कन्हौली बाजार से उनका संपर्क भंग हो गया था। गांव के लोग सड़क बह जाने से गांव में ही कैद हो चुके थे। इसे बनाने के लिए जनप्रतिनिधि से भी गुहार लगाई गई लेकिन सभी की हवा हवाई बातें होती रही। अंत में लोगों ने श्रमदान कर यहां चचरी बनाया और अब उससे आ जा रहे हैं। मालूम हो कि कन्हौली धनराज में घाघरा नहर का पानी बढ़ जाने से इलाका बाढ़ में डूब गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!