Breaking News

वैशाली: बाढ़ से कई गांव हुए प्रभावित


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

उधर पताढ, मुकुंदपुर, सरसई, दोहजी, असकरणपुर, पानापुर, कन्हौली, बिशनपुरा, महादेवमठ, डुमरी, लक्ष्मीपुर, बखरी, बिलंदपुर, करिहो, ताजपुर बुजुर्ग, बेझा उधर हुसैनीपुर, हरपुर, सिंघाड़ा, कुशहर, मकसूदपुर, नीलकंठपुर, परमानंदपुर, छितरौली, बहोरी आदि गांव के लिए नदी शोक बनी हुई है। महुआ के दक्षिण का गांव बारिश के साथ घाघरा नहर के पानी से बाढ में विलीन हो गया है। जबकि उत्तरी और मध्य भाग वाया नदी से तबाही में है।

अनुमंडल कार्यालय परिसर से लेकर मुख्य मार्ग तक जलजमाव:

महुआ अनुमंडल कार्यालय तो 4 महीने से तालाब बन कर रह गया है। अब तो नदी के पानी यहां इतनी बढ़ गई है कि अनुमंडल परिसर से लेकर एसडीओ आवास, गंडक प्रोजेक्ट के कार्यालय से लेकर पूरा क्षेत्र पानी में उपला रहा है। सड़क से उतरते ही लोगों को घुटने भर पानी हेल कर अनुमंडल कार्यालय जाना पड़ता है। वकील, अधिवक्ता लिपिक, कर्मचारी और यहां तक कि पदाधिकारी को पानी हेलकर जाना पड़ता है। वकील को तो कहीं बैठने की जगह नहीं है। वे सड़क किनारे बैठकर लोगों का काम निपटाते हैं। नगर परिषद जल निकासी में फिसडी साबित हो रहा है। नगर परिषद में तो जलजमाव और लगातार पानी की बढ़ोतरी के कारण लोग पलायन कर रहे हैं। यहां वार्ड संख्या 9 में पानी काफी बढ़ जाने से लोग घर से पलायन कर रहे हैं। उधर महुआ ताजपुर सड़क पर कुशहर कोल्डेस्ट और के पास बह रहे वाया नदी के पानी रुक गई है। यहां पानी में कुछ कमी आई है तो उधर समसपुरा, सुलखनी, सिंघाड़ा, हुसैनीपुर, सिंहराय, चांदसराय, पकड़ी कढनिया, गोरीगामा, गरजौल, पहाड़पुर आदि गांवों में पानी बढ़ गई है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!