Breaking News

बाया नदी में लगातार जारी उफान और नहरों के ओवरफ्लो होने के कारण सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में बाढ़ बहुत ही गंभीर


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा एवं नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

सहदेई बुजुर्ग - बाया नदी में लगातार जारी उफान और नहरों के ओवरफ्लो होने के कारण सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में बाढ़ बहुत ही गंभीर रूप ले लिया है।

सड़क से लेकर घर तक,अस्पताल से लेकर विद्यालय तक बाढ़ के पानी मे डुबे हुये हैं।बाढ़ से प्रभावित लोगों को महीनों बाद भी सरकारी मदद का इंतजार है।बाढ़ से प्रभावित सैकड़ों परिवार सड़क किनारे एवं बांध पर किसी प्रकार जिंदगी गुजार रहे है।पशुओं के समक्ष भी चारे का संकट है।नगण्य सरकारी सहायता मिलने के कारण लोगों में आक्रोश पनप रहा है।इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बाया नदी के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि और नहरों के ओवरफ्लो होने एवं कई जगहों पर बाया नदी का पानी बांध से ओवरफ्लो होकर आने के कारण सहदेई बुजुर्ग प्रखंड क्षेत्र के अंतर्गत बाजीतपुर चकस्तूरी पंचायत के वार्ड संख्या 1,2,3,4,5,7,8,10,11,13 एवं 14,सहदेई बुजुर्ग पंचायत के वार्ड संख्या 2,3,4,9,10,11,14 मजरोही उर्फ सहरिया पंचायत के वार्ड संख्या 7,8,14 आदि,चकजमाल पंचायत के वार्ड संख्या 1,3,4,8,9, नयागांव पूर्वी पंचायत के वार्ड संख्या 1,2,3,4,नयागांव पश्चिमी पंचायत के वार्ड संख्या 1 एवं 2 आदि,सुलतानपुर पंचायत के वार्ड संख्या 1,9 एवं 11,सलहा पंचायत के वार्ड संख्या 9 एवं 10 आदि पोहियार बुजुर्ग के वार्ड संख्या 1,7,8,10,11 एवं 12 चकफैज पंचायत बाढ़ से बहुत गंभीर रूप से प्रभावित है।बाढ़ का पानी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग परिसर में प्रवेश कर गया है।जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।सहदेई बुजुर्ग बाजार सहित सहदेई बुजुर्ग प्रखंड मुख्यालय पहुंचने वाले सभी रास्तों पर बाढ़ का पानी जगह-जगह पर चढ़ा हुआ है।अधिकांश ग्रामीण सड़कों पर बाढ़ का पानी चढ़ा हुआ है।इस कारण प्रखंड में 9 सरकारी विद्यालयों में पठन-पाठन भी स्थगित किया जा चुका है।इन सबों के बीच पोहियार बुजुर्ग पंचायत के वार्ड संख्या 1 मुसहरी टोला के 125 परिवार एक महीना से बांध पर शरण लिए हुए हैं।लोग साड़ी,प्लास्टिक आधी टांग कर किसी प्रकार से अपना एवं अपने बच्चों को चिलचिलाती धूप और वर्षा से बचा रहे हैं।लेकिन आज तक इन प्रभावित परिवारों को एक प्लास्टिक शीट तक उपलब्ध नहीं कराई गई।वहीं दूसरी ओर इसी पंचायत के वार्ड संख्या 8 में 30 परिवार एवं वार्ड संख्या 7 रविदास टोला के लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।इन्हें भी सरकारी मदद का इंतजार हैचकेयाज कृषि फार्म में बसे विस्थापित परिवार बाढ़ के कारण एक बार फिर विस्थापित होकर महनार स्टेशन रोड में अपना आशियाना बसा रखा है।यहां भी लोग साड़ी,प्लास्टिक आदि से किसी प्रकार सर ढकने का उपाय किए हुए हैं।लेकिन इन्हें भी सर ढकने का कोई साधन उपलब्ध नहीं कराया गया।केवल यहां एक सामुदायिक रसोई चलाकर प्रशासनिक कर्तव्य की इतिश्री कर ली गई।मानव जीवन के साथ-साथ पशुओं के समक्ष भी चारा का संकट है।पशुपालक अपने जानवरों को लेकर दर-दर भटकने को मजबूर है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!