Breaking News

25 सितंबर को प्रशासन द्वारा चलाया जाएगा स्थाई एवं अस्थाई अतिक्रमण हटाओ अभियान


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा एवं नवीन कुमार सिंह की रिपोर्ट

सहदेई बुजुर्ग/महनार - महनार बाजार क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त बनाने के उद्देश्य से 25 सितंबर से प्रशासन द्वारा सभी स्थाई एवं अस्थाई अतिक्रमण को हटाने के लिए अभियान चलाया जाएगा।महनार के सीओ रमेश प्रसाद सिंह ने इसको लेकर स्थाई अतिक्रमण करने वाले 25 लोगों को नोटिस जारी करते हुए 24 सितंबर तक अतिक्रमण हटा लेने को कहा है।साथ ही माइकिंग करते हुए सभी अस्थाई अतिक्रमण करने वालों को भी अतिक्रमण हटाने को कहा गया है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार महनार के सीओ रमेश प्रसाद सिंह ने स्थाई अतिक्रमण करने वाले महनार बाजार के 25 लोगों को नोटिस जारी कर 24 सितंबर तक अतिक्रमण हटा लेने को कहा है।जारी सूची के अनुसार महनार नगर के रमेश जायसवाल,अजय सिंह,डॉ शशिभूषण प्रसाद सिंह,नागेश्वर प्रसाद चौधरी,विशंभर प्रसाद चौधरी,भजन साह,राजकुमार राय,जितेंद्र कुमार,रमेश कुमार,दीपक कुमार पटवा,लक्ष्मण पान दुकान,सनोज कुमार,प्रदीप चौधरी जे के फैशन,आबिद हुसैन,लाला चौधरी किराना स्टोर,आबिद हुसैन,सुरेश जी,प्रदीप कुमार जयसवाल,सोगारथ सिंह,पारस चौधरी,बालेश्वर सिंह,बाबूलाल साह,मोहन सिंह आदि को नोटिस जारी कर दुकान,मकान,करकट,पक्का मकान,कपड़ा दुकान,फुटपाथ आदि को हटाने को कहा है। सीओ रमेश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को माइकिंग करते हुए पूरे बाजार क्षेत्र में ऐलान किया कि 24 सितंबर तक सभी स्थाई एवं अस्थाई अतिक्रमण को हटा लें अन्यथा 25 सितंबर को प्रशासन द्वारा सभी स्थाई एवं अस्थाई अतिक्रमण को बलपूर्वक प्रशासनिक सहयोग से हटा दिया जाएगा।साथ ही यह भी कहा कि अतिक्रमण हटाने में जो राशि खर्च होगी उस राशि की वसूली अतिक्रमण करने वालों से ही की जाएगी।उल्लेखनीय है कि महनार बाजार के सीमा का सीमांकन का कार्य हल्का कर्मचारी एवं अंचल निरीक्षक की उपस्थिति में अमीन द्वारा किया गया।यह पीडब्ल्यूडी की सड़क है जिसे भू अर्जन के द्वारा सड़क निर्माण हेतु भूमि अर्जित की गई जिसका उपयोग सर्वसाधारण के द्वारा किया जाता है।जो महनार नगर परिषद क्षेत्र के अंतर्गत है।

सड़क की भूमि की पैमाइश होने के बाद ही स्थाई अतिक्रमण कारियों को नोटिस दिया गया है।प्रशासन द्वारा स्थाई एवं अस्थाई अतिक्रमण के विरुद्ध अभियान चलाए जाने की घोषणा होते ही बाजार के व्यवसायियों में हड़कंप मच गया है।वहीं इसको लेकर राजनीति भी होने की पूरी संभावना है।इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि जब प्रशासन अतिक्रमण हटाने पहुंचेगा तो रसूखदार लोग अपने रसूख का इस्तेमाल कर इसे रोकने का भी भरपूर इस्तेमाल करेंगे।लेकिन अब देखना होगा कि क्या प्रशासन ऐसे लोगों के सामने झुकता है या अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!