Breaking News

कौड़ेना नदी से निकले मगरमच्छ के हमले से बाल बाल बची महिला, लोगों में दहशत


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

 मैनाटांड: मैनाटाड़ थाना क्षेत्र के लिपनी गांव के पूरब बहने वाली कौड़ेना नदी से निकले मगरमच्छ के हमले में मरियम खातुन बाल बाल बच गयी। वहीं इसकी सूचना गांव के लोगों को मिलते ही काफी संख्या में ग्रामीण नदी के तट पर पहुंच गये। मिली जानकारी के अनुसार लिपनी गांव के मरियम खातुन नदी के पास अपने खेत के तरफ गयी थी।तभी नदी से निकलकर मगरमच्छ ने उस पर हमला बोल दिया। संयोग अच्छा था कि मरियम खातुन किसी तरह वहां से भागकर अपनी जान बचायी।और ग्रामीणों की सूचना दी।

 सूचना मिलते ही नुर्शीद आलम, यूनुस अंसारी, वकील अंसारी अब्दुल कैश, महमूद अंसारी, अनवारुल हवारी, असलीम मियां, सलीम अंसारी यूनुस,अबुल क़ैश ,बब्लु आलम अबुलैश अंसारी सहित काफी संख्या में लोग कौड़ेना नदी के तट पर मगरमच्छ को देखने के लिए पहुंच गये। हालांकि मगरमच्छ फिर से पानी में घुस गया था मगरमच्छ के देखने और उसके हमले की घटना से लोगों में दहशत का माहौल हो गया है। नदी के पास वाले खेत के तरफ लोगों ने जाना छोड़ दिया है। ग्रामीणों ने बताया कि अभी धान की निकोनी का समय चल रहा है ।खेतों में जाने के लिए नदी पार कर जाना पड़ता है।

लेकिन मगरमच्छ के भय से नदी से खेतों की तरफ जाना भी हम लोगों ने छोड़ दिया है। मगरमच्छ के डर के मारे नदी के तरफ लोगों की आवाजाही बिल्कुल बंद हो गयी है। वहीं बेतिया वन परिसर पदाधिकारी मनोज कुमार और रामनगर वन परिसर पदाधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा कौड़ेना नदी में मगरमच्छ के देखे जाने की सूचना मिली है।जाल लगाकर मगरमच्छ का रेस्क्यू कर उसे गंडक में छोड़ा जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!