Breaking News

गांवों के गलियारों में चुनावी सरगर्मी तेज,जनता की होने लगी आवभगत


बेतिया मैनाटाड संवाददाता अक्षय कुमार की रिपोर्ट 

मैनाटांड़: पंचायत चुनाव की तिथि नजदीक आता देख ग्रामीण इलाकों में चुनावी सरगर्मी तेज हो गई है।अभी नामांकन शुरू नहीं हुआ है लेकिन भावी प्रत्याशी वोटरों को रिझाना शुरू कर दिये हैं। चुनावी बिसात पर शतरंजी गोटिया फेंके जाने लगी हैं।शह और मात का खेल शुरू हो गया है। मतदाताओं को रिझाने के लिए प्रत्याशी दलान और खेत खलियान तक पहुंचना शुरू कर दिये हैं। 

वोट के लिए कई बार मतदाताओं के पैर पकड़कर माथा ऐसे टेक रहे हैं जैसे किसी मंदिर में देव के आगे माथा टेका जा रहा है। इसे देख लोग तरह-तरह की चर्चाए कर रहे हैं की जो प्रत्याशी अब तक हाल चाल नहीं पूछते थे, वह भी लोगों के पांव छू रहे हैं। वही चौक चौराहों पर प्रत्याशियों के समर्थक पार्टियां कर रंगीन खाना खा रहे हैं और उनकी प्रशंसा कर जीत सुनिश्चित करते नहीं थक रहे है। यूं तो आजकल शादी-विवाह का सीजन खत्म हो गया है, लेकिन गांव देहातों में कई प्रकार के निजी और सार्वजनिक समारोह आयोजित हो रहे हैं।

 इन आयोजनों में प्रत्याशी बिन बुलाए मेहमान की तरह अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। प्रत्याशियों ने दिन रात का भेद भाव भी मिटा दिया है। एक साथ कई पदों पर चुनाव होने के कारण प्रत्याशियों की जैसे बाढ़ आ गई है। गांव में अभी एक पद का प्रत्याशी वोट मांग कर जाता है, तब तक दूसरे पद का प्रत्याशी धमक जाते हैं। ऐसे में वोटरों के भी परेशानी बढ़ गई है। कई बार तो प्रत्याशियों से बचने के लिए जरूरी काम के लिए वोटर चोरी चुपके घर से बाहर निकल रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!