Breaking News

लालगंज में भारत बंद का दिखा ब्यपक असर,बंद ‌के दौरान मची रही अफरा तफरी

वैशाली से रिपोर्ट संतोष कुमार कि रिपोर्ट 



वैशाली : तीन काला कृषि कानून, बिजली संशोधन बिल 2020 को वापस लेने ,एम एस पी की गारंटी करने ,बेरोजगारी के खिलाफ अखिल भारतीय किसान मोर्चा के अह्वान् पर भारत बंद के दौरान विभिन्न किसान संगठनों के दर्जनों कार्यकर्ताओं नेे स्थानिय तीनपुलवा चौक को सुबह 06 बजे से बांस-बल्ला,ट्रक आदि लगाकर सड़क जाम कर दिया, जिससे आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया।पंचायत चुनाव में नामांकन कराने वाले प्रत्याशियों को भारी कठिनाइयों का.सामना करना पड़ा।उन्हें रूट बदलकर प्रखंड कार्यालय पहुंचने

को मजबूर होना पड़ा।आम लोगों को भी आने-जाने में भारी परेशानी हुई।बाजार के अधिकांश दूकानें बंद रही।बंद का नेतृत्व अखिल भारतीय खेत मजदूर किसान सभा के जिला सचिव त्रिभुवन राय, ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के लालगंज प्रखंड प्रभारी कुमोद कुमार सहनी,अखिल भारतीय किसान महा सभा के भिखारी सिंह, भारतीय जनता पार्टी सेकुलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव तिवारी, ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गनाइजेशन के प्रखंड प्रभारी दीपक कुमार, भगत सिंह छात्र-नौजवान सभा के प्रखंड अध्यक्ष डॉ० नटवरलाल, सचिव लालू कुमार, विकास कुमार ने संयुक्त रूप से किया।बंद का व्यापक असर दिखा।इस दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं कृषिमंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का पुतला फूंका गया।कार्यकर्ताओं ने तीनों काला कृषि कानून वापस लो,एम एस पी की गारंटी करो,बिजली बिल 2020 वापस लो,बेरोजगारों को रोजगार दो,भारत सरकार मुर्दाबाद, कृषिमंत्री होश में आऔ आदि गगनभेदी नारे लगा रहे थे।चक्का जाम खुलवाने के लिए थाना प्रभारी लालगंज को काफी मसक्कत एवं अनुनय-विनय करना पड़ा।बंद को सफल बनाने में ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के जिला कमिटी सदस्य डॉ०राजेन्द्र शर्मा ने अहम भूमिका निभाया।बंद कराने में धर्मेंन्द्र कुमार, प्रमोद राम,जगदीश सहनी,विपीन सहनी,मंगल राय, सुन्देसर सहनी,कन्हाई सहनी,रामलखन सहनी,तारकेश्वर सहनी,सुरेश सहनी,महिला नेत्री मालती देवी, मो०अलाउद्दीन, उमेश राय, हरेंद्र सिंह,रामएकवाल राय आदि ने बढ़-चढ़ कर भूमिका निभाया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!