Breaking News

शिक्षक दिवस के अवसर पर क्रांतिकारी नेता जगदेव प्रसाद की पुण्यतिथि शहादत दिवस के रूप में मनाएगा


जमुई जिला ब्यूरो वीरेंद्र कुमार की रिपोर्ट

नागी डैम के समीप भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शिक्षक दिवस के रूप एवं क्रांतिकारी नेता जगदेव प्रसाद की पुण्यतिथि शहादत दिवस के रूप में मनायी गयी। इस मौके पर वक्ताओं ने दोनों महापुरुषों के जीवनी पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पूर्व जिला पार्षद धर्म देव यादव ने शिक्षक दिवस के अवसर पर उपस्थित शिक्षकों को सम्मानित किया एवं बाबू जगदेव प्रसाद की शहादत को याद करते हुए कहा कि आज से 50 साल पूर्व जब समाज में जातिभेद, जाति के नाम पर शोषण, अत्याचार चरम पर था, तब जगदेव प्रसाद जैसे क्रांतिकारी नेता हुए और समाज में व्याप्त शोषणकारी तत्वों के जुल्म और अत्याचार का जोरदार विरोध किया जिसके चलते उन्हें अपने प्राणों का बलिदान देना पड़ा। 

  मुख्य अतिथि श्री चक्रधारी यादव ने कहा कि समाज में व्याप्त असमानता को बाबू जगदेव प्रसाद के आदर्शो को अपनाकर ही समाप्त किया जा सकता है।

     विशिष्ट अतिथि नागेश्वर यादव ने कहा की जगदेव प्रसाद ने सामाजिक असमानता के साथ ही समाज में फैले अंधविश्वास और पाखंड के खिलाफ भी अपनी आवाज मुखर किया था। शिक्षक शंभूनाथ जगतबंधु ने कहा कि जगदेव बाबु के सपनों को पूरा करने के लिए उनके आदर्शों को अपने जीवन में उतारना होगा।

   सभा को समाजसेवी नंदकिशोर मंडल,शिक्षक नेता सुरेंद्र यादव पैक्स अध्यक्ष विजय कुमार मंडल ,ब्रह्मदेव मंडल, उमेश यादव, चतुरानंद यादव, टेकन यादव,छात्र नेता मनीष कुमार आदि ने संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!