Breaking News

शहीदों की शव यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, "भारत माता की जय" के नारे से गूंज उठे गांव के गांव




बिक्रमगंज (रोहतास) : जम्मू काश्मीर के कुपवाड़ा में शहीद हुए बिहार के अमर जवान शहीद धर्मेंद्र कुमार सिंह का पार्थिव शरीर गुरुवार को सुबह लगभग 08 बजे उनके पैतृक गांव स्थानीय प्रखंड अंतर्गत मैधरा गांव पहुंचा । पार्थिव शरीर पहुंचते ही रोहतास जनपद के बिक्रमगंज प्रखंड में उनके अंतिम दर्शन को लेकर जनसैलाब उमड़ पड़ा । लोगों ने नम आंखों से अमर शहीद धर्मेंद्र कुमार सिंह उर्फ पप्पू सिंह की शहादत पर सलामी दी । पैतृक गांव पहुंचते ही जिला की सीमा पर ही लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा ।  'जब तक सूरज चांद रहेगा, अमर शहीद तुम्हारा नाम रहेगा, भारत माता की जय के नारों के साथ लोगों ने नम आंखों से अमर शहीद को सलामी दी । रोहतास जिले के अमर शहीद धर्मेंद्र कुमार का पार्थिव शरीर जैसे ही जिले की सीमा में प्रवेश किया । बिक्रमगंज की सूनसान सड़कों पर जन सैलाब उमड़ पड़ा । सभी लोगों की आंखें नम हो गई । लोग नम आंखों से जिले के लाल को श्रद्धांजलि अर्पित करने लगे । तिरंगा लेकर पहुंचे लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाते हुए स्वर्गीय सिंह के पार्थिव शरीर को सलामी दी । 


-:- अमर शहीद के शव पंचतत्व में हुए विलीन -:-


जिले की सीमा पर वरीय अधिकारियों के निर्देश पर भूमि सुधार उपसमाहर्ता सह प्रभारी एसडीएम मधुसूदन प्रसाद , एसडीपीओ शशि भूषण सिंह , इंस्पेक्टर सुबोध कुमार  ,बीडीओ अजय कुमार , थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने धर्मेन्द्र कुमार के शव यात्रा को स्कार्ट किया । इसके बाद पार्थिव शरीर मैधरा गांव तक पहुंचा । जिस  स्थल पर मौजूद रोहतास एसपी आशीष भारती एवं अन्य अधिकारी शव यात्रा में शामिल हुए । शहीद स्वर्गीय सिंह का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव मैधरा में ही किया गया । अमर शहीद के बड़े पुत्र 06 वर्षीय तेजप्रताप एवं छोटे पुत्र 04 वर्षीय आर्यन के द्वारा मुखाग्नि दी गई । उस वक्त का माहौल काफी विदारक दृश्य देखने को मिल रहा था । इस दौरान धर्मेंद्र कुमार के पार्थिव शरीर को गार्ड-ऑफ ऑनर की सलामी दी गई ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!