Breaking News

लोदीपुर गांव के हरिजन टोला में डायरिया के प्रकोप से पिता पुत्र की मौत

रंजन कुमार ब्यूरो चीफ शेखपुरा कि रिपोर्ट 



शेखपुरा जिले के सदर प्रखंड के गव्य पंचायत अंतर्गत लोदीपुर गांव के हरिजन टोला में डायरिया के प्रकोप से पिता-पुत्र की मौत हो गई ।जबकि आधा दर्जन लोग अभी भी बीमार है।इस सम्बंध में गाँव के सामाजिक कार्यकर्ता मुन्ना यादव डायरिया संक्रमण की सूचना स्वास्थ्य विभाग को दिया।सूचना के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर लोदीपुर के हरिजन टोला पहुच घर- घर जाकर बीमार का चेकअप किया और गांव में छिड़काव किया गया ग्रामीणों ने बताया कि 4 दिनों से लगातार उल्टी दस्त की शिकायत पर लोग स्थानीय स्तर पर ही इलाज करा रहे थे। इस दौरान 70 वर्षीय प्रयाग मांझी की मौत हो गई। जबकि उनका 30 वर्षीय पुत्र सूली मांझी की भी उल्टी दस्त की शिकायत के बाद मौत हो गया। घटना के बाद हरिजन टोला में मातम का माहौल है।वहीं अभी भी आधा दर्जन लोग बीमार हैं।वही सामाजिक कार्यकर्ता मुन्ना यादव ने कहा कि अपने पहल पर गांव में छिड़काव कर रहे है।जबकि बीमार का इलाज भी करवाया जा रहा है। वही इस संबंध में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शेखपुरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि पिता-पुत्र की मौत उल्टी दस्त के बाद हुई है ।जबकि मेडिकल टीम को सूचना मिलते ही मेडिकल टीम गांव पहुंचकर हरिजन टोला के सभी घर के लोगों का मेडिकल चेकअप किया और दवाई के साथ-साथ बीएसी पाउडर का छिड़काव गांव में किया गया है। वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि चार लोग अभी बीमार चल रहे हैं। लेकिन सभी खतरे से बाहर हैं। वहीं उन्होंने स्थिति को नियंत्रित मे बताया है। गौरतलब है कि शेखपुरा में पिछले एक माह से किसी न किसी गांव में डायरिया का प्रकोप से लोग आक्रांत हैं। जबकि सदर प्रखंड के हसौड़ी गांव में डायरिया की चपेट में आने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत बीते 18 अगस्त को हो गई थी। जबकि गांव में करीब दर्जन भर से ज्यादा लोग बीमार हुए थे। वही शेखपुरा सदर प्रखंड के ही कुसुंभा गांव में भी डायरिया के प्रकोप से 6 लोग बीमार हुए थे लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम की सजगता के कारण सभी स्वस्थ हैं।वही अरियरी प्रखंड के अरियरी गांव में ही डायरिया से 3 लोग बीमार हुए थे।जरूरत है स्वास्थ्य विभाग वरसात के मौसम में ग्रामीण क्षेत्रो  में विशेष निरगरणी के साथ जागरूकता अभियान चलाए ताकि लोगो डायरिया के बचाव का तरीका अपना कर सुरक्षित रह सके।


कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!