Breaking News

लोगों के सहयोग से हीं बचेगा पर्यावरण : राजीव


नालंदा संवाददाता

वन्यप्राणी सप्ताह व विश्व प्राकृतिक आवास दिवस के मौके पर 3 अक्टूबर को वाराणसी स्थित स्थानीय संत जॉर्ज पब्लिक स्कूल के प्रांगण में पर्यावरण व वन्यजीव के संरक्षण हेतु एकदिवसीय कार्यक्रयम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का विधिवत संचालन मुख्य अतिथि गौरैया संरक्षण अभियान(नालंदा) के संचालक राजीव रंजन पाण्डेय को माल्यार्पण कर किया गया। 

वन्यप्रणियों के संरक्षण हेतु सभी को आगे आना होगा


अभियान के संचालक राजीव रंजन पाण्डेय ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज बदलते पर्यावरण में सबसे अधिक खतरा पेड़-पौधों व जीव-जंतुओं पर असर देखने को मिल रहा है। स्वच्छ पर्यावरण के इनका संरक्षण आवश्यक है। इसके लिए आमलोगों के बीच एक अभियान चलाने और इस मुहीम से जुड़ने की जरूरत है। मानव के इस विकास यात्रा में पर्यावरण को अनदेखा किया जा रहा है। जिसके कारण महामारी, बाढ़,तूफान व अन्य आपदाएं आएदिन आ रहे हैं। हमसब को अपने जिकनशैली में बदलाव करने की जरूरत है,नही तो धरती पर मौजूद समस्त जीवों के लिए ख़तरा मंडराने लगेगा और एकदिन समाप्त होने के कगार पर आ जाएगा।  

घोंसले का किया गया वितरण


इस अवसर पर गौरये संरक्षण अभियान की ओर से शहरी क्षेत्र में जहाँ भी गौरये की मौजूदगी है वहाँ घोंसला लगाया जाए ताकि गौरये के उजड़े घर के लिए नया ठिकाना मिल सके।

मानव का धर्म है जीवों की रक्षा करना

संत व योगाचार्य बहुतानंद ने इस अवसर पर कहा कि शास्त्रों में मानव धर्म को बहुत ही व्यापक बताया गया है। इसमें विश्व कल्याण व जीवों के प्रति दया का भाव का पाठ पढ़ाया गया है। हमारे एक छोटे से प्रयास से इन पशु-पक्षियों का कल्याण संभव है। प्रकृति का नियम है जितना हम देते है उससे कई गुना वापस हमे लौटाकर देती है। इसलिए जीवों के प्रति दयाभाव व अपने छतों पर दाना-पानी अवश्य रखें।

इस अवसर पर पर्यावरणप्रेमी विनय कुमार सिंह,संजय कुमार,अटल कुमार,अमन पाण्डेय संतोष कुमार,हर्ष कुमार सहित दर्जनों लोग मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन देवेंद्र सिंह द्वारा किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!