Breaking News

शारदीय नवरात्र पर देवी सप्तशती मंत्र से महुआ इलाका गूंज उठा।


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

 नवरात्र के दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी की पूजा हुई। वही प्रथम दिन माता के प्रथम स्वरुप शैलपुत्री की पूजा की गई। इस मौके पर सभी देवी स्थलों, दुर्गा पाठ करने वाले श्रद्धालु के यहां कलश स्थापना की गई। 

कलश स्थापना को लेकर चारों ओर रूपम देही यशो देही के साथ या देवी सर्व भूतेषु शक्ति रुपेण संस्थिता नमस्यतस्यै नमस्यतस्यै नमस्यतस्यै नमो नमः के महामंत्र गूंजते रहे। यहां पातेपुर रोड स्थित मां दुर्गा पूजा समिति पर माता की कलश स्थापना विधि विधान से की गई। आचार्य संतोष झा के द्वारा मंत्रोचार के बीच कलश स्थापना कराई गई।

 इस बीच यहां 4 घंटे तक पूजा की गई। यहां एक दर्जन से अधिक महिला व पुरुष यजमान देवी आराधना में लगे हैं। वे पूरे 9 दिनों तक फलाहार में रहेंगे। उधर गांधी स्मारक, पुराना बाजार, राम लखन सिंह मार्केट, पुराना हॉट, मंगरू चौक, तिवारी जी के मेला, कन्हौली बाजार, रानीपोखर, बोतला चौक, बेलकुंडा, बेरई, सेंदुआरी, सुभई, छतवारा, कुशहर, हरपुर बेलवा, हरपुर ओस्ती, डोगरा, शाहपुर चकूमर, कड़ियों सहित विभिन्न जगहों पर कलश स्थापना की गई। नवरात्र शुरू होते ही लोगों में भक्तिभाव सिर चढ़कर बोलने लगा है। उधर बताया गया कि शक्तिपीठ गोविंदपुर में पंचमी को ही कलश स्थापना कर माता का पट खोला जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!