Breaking News

धूमधाम से मनाई गई भारत छोड़ो आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले स्वतंत्रा सेनानी बच्चा शर्मा की 42वी पुण्य तिथि


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

सन 1942 के अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले स्वतंत्रता सेनानी बच्चन शर्मा की 42वी पुण्यतिथि गुरुवार को यहां मनाई गई। इस मौके पर लोगों ने उनके आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

स्वतंत्रता सेनानी बच्चन शर्मा उस बेचन राय मूलतः राजापाकर प्रखंड के बैकुंठपुर के रहने वाले थे। हालांकि उन्होंने महुआ को कर्म क्षेत्र बनाया था। 1942 के अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन में उन्होंने महती भूमिका निभाई थी। वह देश को आजाद कराने के लिए कई बार जेल गए। अंग्रेजों के यातनाएं सही। जय प्रकाश नारायण आंदोलन में तो उन्होंने बढ़-चढ़कर भाग लिया। वे जेल तोड़कर आजादी के दीवानों को निकाला था। स्वतंत्र भारत होने के बाद 1977 में वे महुआ के प्रखंड प्रमुख बने। बच्चन शर्मा राजापाकर प्रखंड के बैकुंठपुर निवासी होने के बावजूद महुआ को अपना कर्म क्षेत्र बनाया था।

 उन्होंने महुआ के विकास के लिए कई कार्य किए। यहां के लोगों से उनका अगाध प्रेम था। उन्होंने महुआ के लोगों में स्वतंत्रता के प्रति जज्वा को देखकर काफी खुश हुए थे। उनके साथ महुआ के कई लोगों ने आजादी की लड़ाई में सक्रिय योगदान दिया था। इस मौके पर स्व शर्मा के पुत्र बसंत कुमार के अलावा राजेश्वर गुप्त, प्रभु प्रसाद यादव, विशुनदेव राम, पुनीत कुमार सिंह, शिव नंदन राय, सुखनंदन सिंह, सुमन कुमार, सुमित सहगल, अरुण कुमार, अमरेंद्र कुमार अरुण, संजीव, अजय गुप्ता आदि दर्जनों लोग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!