Breaking News

15 सूत्रीय मांग को लेकर मीडिया फॉर बॉर्डर हारमोनी के बैनर तले हुआ बैठक का आयोजन


भारत
नेपाल पत्रकारों के साझा मंच मीडिया फॉर बार्डर हार्मोनी द्वारा नेपाल के रौतहट जिला मुख्यालय गौर स्थित जिला समन्वय समिति सभागार में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ भारत और नेपाल के राष्ट्रगान ससम्मान खड़े होकर अभिवादन किया गया। "नेपाल भारत मैत्री संवाद" कार्यक्रम में भारत और नेपाल के 2 नंबर मधेश राज्य सरकार में ऊर्जा मंत्री श्री ओमप्रकाश शर्मा, कृषि राज्य मंत्री योगेन्द्र यादव, भाजपा सांसद अजय निषाद, विधान परिषद सदस्य श्री देवेशचन्द्र ठाकुर, भारतीय वाणिज्य दूतावास बीरगंज अधिकारी नितीश कुमार, राजद नेता देवेन्द्र कुमार सिन्हा ,मीडिया फ़ॉर बॉर्डर हार्मोनी के नेपाल अध्यक्ष अनिल झा, रौतहट के अध्यक्ष किशोरी यादव, नेपाल पत्रकार महासंघ के अध्यक्ष प्रेमचंद्र झा, पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र साह, पूर्वी चम्पारण जिलाध्यक्ष नवेन्दु कुमार, मुजफ्फरपुर जिलाध्यक्ष रंजन कुमार, सुमित कुमार, संकेत मिश्रा, ढाका विधानसभा अध्यक्ष राजू कुमार सिंह, अभिमन्यु कुमार, सुजीत कुमार चन्द्रवंशी, शिव कुमार सहित भारत नेपाल के सैकड़ों पत्रकार, राजनेता व समाजसेवी उपस्थित रहे। 



  • भारत नेपाल मैत्री संवाद मांग पत्र 

  1. नेपाल में कोरोना महामारी से बचाव के लिए भारत सरकार दवा की तरह कोरोना बैक्सीन सभी नेपाली नागरिकों के लिए उपलब्ध कराये। इसके लिए सभी भारतीय सीमाक्षेत्र में नेपाली नागरिकों के लिए विशेष बैक्सीन शिविर का आयोजन नियमित किया जाए । 

2. भारत में नेपाली नागरिकों को उनके नागरिकता प्रमाण पत्र के आधार पर भारतीय मोबाईल सिम कार्ड और भारतीय बैंको में खाता खोलने की व्यवस्था सुनिचित की जाए, इससे हमारे सदियों पुराने बेटी-रोटी संबंध के साथ व्यावसायिक, पर्यटक, धार्मिक व राजनीतिक रिश्ते को मजबूती मिलेगी। 

3. भारत-नेपाल के बीच दोनों सरकारें पहल कर मोबाईल काॅल रेट कम करें। इससे परिवारिक, व्यपारिक, रिश्ता मजबूत होगा।

4. नेपाल के चूड़े पहाड़ से निकलने वाली नदियों को बांध से नेपाल सीमा से लेकर भारत सीमा में बने रिंग बांध से जोड़ा जाए। इससे सीमावर्ती इलाकों में बाढ़ की समस्या से निदान मिलेगा।


5. भारत-नेपाल सीमा पर भारत की ओर से एस.एस.बी. और नेपाल की ओर से नेपाल सुरक्षा प्रहरी तैनात हैं। तैनाती से पूर्व विशेष कार्यशाला कराया जाए। इससे उनके अन्दर दोनों देशो के रिश्तों की जानकारी होगी। अभी एस.एस.बी. के जवान कई जगह पर इस तरह का ब्यवहार करते जिससे आए दिन तनाव होता है हाल ही में बैरगनिया बाॅर्डर पर भी तनाव देखने को मिला।

6. कोरोना काल में दोनों देशो का व्यवसाय प्रभावित हुआ है इसलिए दोनों देशों की सरकार विशेष पैकेज उद्यमियों एवं व्यवसायियों को उपलब्ध कराए। 

7. भारत-नेपाल सीमा पर अति महत्तवपूर्ण रक्सौल व मुजफ्फरपुर हवाई अड्डे को अविलंब चालू किया जाए। रक्सौल से नई दिल्ली के लिए भारत-नेपाल मैत्री रेल एक्सप्रेस शुरू हो। यह एक्सप्रेस राजधानी ती तरह पूर्णतः वतानुकुलित हो इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

8. भारतीय वाहनों के प्रवेश को आसान बनाया जाए। नेपाल सरकार भंसार की दर कम करें। पर्यटक उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भारतीय वाहन के प्रवेश का 7 दिन 15 दिन का पैकेज तैयार करे इससे पर्यटक वाह्न के आवाजाही बढ़ेगी । 

9. नेपाल अद्योगिक राजधानी बीरगंज में भारत सरकार एम्स दिल्ली की तरह सुपर स्पेशलिटी अस्पताल खोले इससे भारत और नेपाल सीमा क्षेत्र के लोगों को विशेष चिकित्सा सुविधा मिलेगी। 

10. बीरगंज व गौर में केन्द्रीय विद्यालय की स्थापना भारत सरकार की ओर से की जाए इससे शिक्षा की व्यवस्था मजबूत होगी। 

11. नेपाल काठमांडू के पशुपति नाथ से बाबा सोमेश्वर नाथ अरेराज धाम को पयर्टक सर्किट से जोड़ा जाए । सरकार यहाँ से सीधी बस सेवा शुरू करें।

12. भारत-नेपाल सीमा को जोड़ने वाली तमाम ग्रामीण, राजकीय मार्ग को दुरूस्त कराते हुए रास्ते में आने वाली पुल-पुलिया की मरमत व जहाँ जरूरत हो वहाँ पर नया निर्माण कराया जाए। इससे मालवाहक व यात्री वाहनों को दोनों तरफ आने-जाने में सहुलियत होगी। 

13. गौर भंसार को अपग्रेड किया जाए। सीमाई इलाके में बैंकों की ओर से सटही काउंटर खोला जाए ताकि आम नागरिकों को आर्थिक लेन-देन में कठिनाई न हो। 


14. नियमित नेपाल से सांसद, विधायक, छात्र, महिला की टोली तथा भारत से इसी तरह की टोली को दोनों देश की सरकार नियमित भेजें ताकि दोनों देश की साझा संस्कृति, विकास, कृषि को नजदीक से जाना जा सके। इससे साझा विकास का गति मिलेगी। 

15. भारत नेपाल सीमा पर जनप्रतिनिधि, पत्रकार, समाजिक संगठन, प्रशासनिक अधिकारियों का संयुक्त रूप से भारत नेपाल मैत्री समिति बनाई जाए। यह समिति सीमा पर होने वाले छोटे-छोटे विवादों के निपटारे में सरकार का सहयोग करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!