Breaking News

नक्सलियों पर रहेगी पैनी नजर : अवनीश।


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

  • सुरक्षित रहने के लिए सतर्कता जरूरी : प्रमोद।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आठवें और अंतिम चरण के तहत 24 नवंबर को खैरा प्रखंड के 22 ग्राम पंचायतों में मतदान कराया जाना है। शांतिपूर्ण, भयमुक्त एवं पारदर्शी चुनाव को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह सजग और सचेत है। आठवें चरण के पंचायत चुनाव के लिए सभी वांछित तैयारियां पूरी कर ली गई है।जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार मंडल खैरा प्रखंड कार्यालय परिसर में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों और मतदान कर्मियों को संयुक्त रूप से संबोधित कर उन्हें चुनाव से सम्बंधित कर्तव्यों का पाठ पढ़ाया और उनका क्षमतावर्धन किया।

    डीएम श्री सिंह ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि खैरा प्रखंड उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के रूप में नामित किया जाता है। उन्होंने चिन्हित इलाकों में नक्सलियों पर पैनी नजर रखे जाने की बात - बताते हुए कहा कि प्रजातंत्र के महापर्व को उल्लास और उमंग के वातावरण में मनाएं और नया कीर्तिमान स्थापित करें। उन्होंने निर्वाचन को एक चुनौतीपूर्ण कार्य बताते हुए कहा कि शांति और सौहार्द के वातावरण में इसे संपन्न कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। श्री सिंह ने प्रतिनियुक्त अधिकारियों को संभावित विपरीत परिस्थितियों को संभालने की जिम्मेवारी देते हुए कहा कि सहजता से मतदान संपन्न कराना आपका दायित्व है, जिसका कुशलता से निर्वहन किया जाना चाहिए। 

    जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्री सिंह ने आठवें चरण में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत खैरा प्रखंड के कुल 22 ग्राम पंचायतों के लिए जिला परिषद, मुखिया, पंचायत समिति, सरपंच, पंचायत वार्ड सदस्य और पंच के पदों के लिए चुनाव कराए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि 24 नवंबर को मतदान सुबह 07 : 00 बजे शुरू होगा जो अपराह्न 04 : 00 बजे तक निर्धारित है। डीएम श्री सिंह ने प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों को लगातार संबंधित क्षेत्र में चौकन्ना रहने का निर्देश देते हुए कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपनी क्षमता का हर - संभव इस्तेमाल करें। उन्होंने शांतिपूर्ण चुनाव के लिए चकाई प्रखंड हेतु 07 सुपर जोनल दंडाधिकारी, 22 जोनल दंडाधिकारी, 38 सेक्टर दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि इसके अलावे बड़े पैमाने पर प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को भी प्रतिनियुक्त किया जा रहा है। उन्होंने अधिकारियों को निदेशित करते हुए कहा कि ईवीएम की गड़बड़ी की सूचना मिलने पर वे त्वरित कार्यवाही कर सम्बंधित मतदान केंद्र पर जाएंगे और उसमें उत्पन्न तकनीकी बाधा को तीब्र गति से दूर कर वोटिंग को सुचारू रूप से गति देंगे। डीएम श्री सिंह ने शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न कराए जाने के लिए जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि मतदान की तिथि से 72 घंटे पूर्व से लेकर वोट समाप्ति तक यह कक्ष कार्यरत रहेगा। उन्होंने जिला नियंत्रण कक्ष के लिए 06345 : 222012, 222132, 222133, 222134, 222135 और 222136 नंबर का दुरभाष अधिष्ठापित किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि यहां यथोचित शिकायतों का द्रुतगति से निस्तारण किए जाने का प्रबंध किया गया है। श्री सिंह ने एसडीओ को मोबाइल नंबर 94731 91406 पर उपलब्ध रहने की जानकारी देते हुए कहा कि चकाई के बीडीओ और सीओ भी अपने - अपने मोबाइल पर उपलब्ध रहेंगे।

 


 पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार मंडल ने मौके पर कहा कि सुरक्षित रहने के लिए सतर्कता जरूरी है। उन्होंने मतदान कर्मियों , प्रतिनियुक्त अधिकारियों एवं अन्य सम्बंधित जनों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश देते हुए कहा कि नक्सली क्षेत्रों में अपनी गतिविधि गोपनीय रखें। कच्चे रास्ते पर चलने में सावधानी बरतें। आने - जाने के लिए अलग - अलग मार्गों का चयन करने के साथ कच्चे रास्तों का इस्तेमाल कम करें। खुदी हुई मिट्टी और तार से सतर्कता बरतने की जरूरत है। 

    श्री मंडल ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा का चाक - चौबंद इंतजाम किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि अवांछित तत्वों पर भी टेढ़ी नजर रहेगी। उन्होंने कड़क अंदाज में कहा कि निष्पक्ष मतदान में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। श्री मंडल ने प्रतिनियुक्त अधिकारियों और कर्मियों का जमकर हौसला अफजाई किया और उन्हें प्रदत्त शक्तियों का एहसास कराया।

      डीटीओ कुमार अनुज, एसडीएम अभय कुमार तिवारी, एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार, सम्बंधित प्रखंड के बीडीओ, अंचलाधिकारी समेत अधिकांश प्रतिनियुक्त अधिकारी और कर्मी मौके पर उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!