Breaking News

नोखा प्रखंड सिसिरिता गांव एवं ठेकहीरधुनाथ पुर में भी सांयकाल डूबते सूर्य को व्रतियों ने दिया पहला अर्द्घ


रोहतास नोखा से मंटू कुमार चंद्रवंशी की रिपोर्ट

 नोखा (रोहतास) नोखा प्रखंड के सभी गांव में धुमधाम से छठ महापर्व मनाया जा रहा है महिलाओं ने सारा दिन व्रत रखा और सायंकाल डूबते सूर्य अस्ता को प्रथम अर्घ्य देकर पति एवं पुत्र के लिए मंगल कामना की। 11 नवम्बर की सुबह शुभ मुहूर्त में उगते हुए सूर्यदेव को द्वितीय अर्घ्य देने के साथ ही छठ व्रत का समापन होगा।

व्रती महिलाओं ने सुबह से ही तालाबों, कुण्डों एवं नदी तट पर जाने की तैयारियां शुरू कर दी थी। पूजा के प्रयोग में आने वाले प्रमुख सामानों जैसे बांस की टोकरी, गन्ना, गागर, नारियल के पत्ते वाली हल्दी, टेकुआ आदि को एकत्र कर महिलाओं ने दोपहर होते-होते अपने परिजनों के साथ सूर्यदेव को अर्घ्य देने के लिए घाटों पर जाना शुरू कर दिया। जैसे-जैसे शाम होती गई वैसे-वैसे गाजे-बाजे के साथ सिर पर पूजा का सामान रखे व्रती महिलाएं एवं उनके परिवारीजन की भीड़ बढ़ती गई। पूरा नोखा प्रखंड भगवान भास्कर की भक्ति में डूब गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!