Breaking News

उदीयमान सूर्य को अर्घ्य अर्पित कर व्रतियों ने किया महापर्व का समापन


बिक्रमगंज(रोहतास)
। अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत स्थानीय शहर के वार्ड संख्या 21 के धारुपुर मां काली स्थान के परिसर में आस्था का महापर्व छठ व्रत उदीयमान सूर्य को छठव्रतियों द्वारा अर्ध्य देकर 36 घंटे का निर्जला व्रत सम्पन्न हो गया । सुबह से ही छठ घाटों पर भीड़ लगने लगी और जैसे ही सूर्य की लालिमा धरती पर बिखरने लगी । सभी छठव्रती तालाबों और नदियों में डुबकी लगा कर उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया । उसके बाद छठव्रती ठेकुआ का प्रसाद ग्रहण कर अपना उपवास तोड़ा । वही दूसरी तरफ छठ घाटों को बिक्रमगंज , धावां , काशी घाट , तेंदुनी , धनगाई , नोनहर और धारुपुर को स्थानीय लोगों द्वारा व्यापक रूप से सजाया गया था । तो वही दूसरी ओर काराकाट प्रखंड क्षेत्र के देव मार्कण्डेय , रघुनाथपुर , संसार डिहरी , चिकसील , कुरुर , जयश्री , मोथा छठ पूजा के तालाबों और नदियों में छठ की छटा काफी अदभुत देखी गयी । जहां तक सुरक्षा का सवाल है उसमें भी अनुमंडल प्रशासन ने कोई कोर कसर नही छोड़ा । अनुमंडल क्षेत्र के सभी प्रखंडों के वरीय अधिकारियों ने छठ पूजा घाटों का निरीक्षण करते रहे । पुलिस की भी तैनाती की गई है। कुल मिलाकर आस्था का महापर्व गुरुवार को सम्पन्न हो गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!